ताज़ा खबर
 

ना मिनिमम बैलेंस का झंझट, ना ATM कार्ड के चार्ज की दिक्कत, BSBD अकांउट में मिलते हैं कई बड़े फायदे

BSBD बैंक अकाउंट के एक साथ कई फायदे हैं। इसमें कोई एटीएम/डेबिट कार्ड चार्ज नहीं लगता है। इसके अलावा इसे सैलरी अकाउंट की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है।

BSBD अकाउंट के कई फायदे हैं। (Photo-Indian Express )

कई बार लोगों के पास ज्यादा पैसे नहीं होते हैं लेकिन उन्हें अपना बैंक अकाउंट खुलवाना होता है। ऐसे में बैंक में जीरो बैलेंस सेविंग्स अकांउट (BSBD) का विकल्प सही रहता है। इस अकाउंट के कई फायदे हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ फायदे।

क्या हैं फायदे: इस बैंक अकाउंट के एक साथ कई फायदे हैं। इसमें कोई एटीएम/डेबिट कार्ड चार्ज नहीं लगता है। इसके अलावा इसे सैलरी अकाउंट की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है। वहीं, फ्री नेट बैंकिंग की सुविधा मिल जाएगी, जबकि मिनिमम बैलेंस रखना भी जरूरी नहीं है। इस बैंक अकाउंट में फ्री पासबुक और चेकबुक की सुविधा मिलती है। ऐसे अकाउंट में इंटरेस्ट का कैलकुलेशन, उस अकाउंट में मौजूद एवरेज बैलेंस के आधार पर किया जाता है।

आपके जीरो बैलेंस सेविंग अकाउंट के साथ प्राप्त एटीएम/डेबिट कार्ड का उपयोग ऑनलाइन भुगतान करने के लिए भी किया जा सकता है। कार्ड इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट गेटवे सिस्टम जैसे रूप में काम करता है जो आसान और सुविधाजनक ऑनलाइन भुगतान की सहूलियत देता है। कुछ बैंकों के पास आपकी जरूरतों के आधार पर खास तरह के जीरो बैलेंस अकाउंट होते हैं, और वे सेफ्टी डिपॉजिट लॉकर की सुविधाएं भी प्रदान कर सकते हैं जिसका आप लाभ उठा सकते हैं।

इन बातों का रखना होगा ध्यान: हालांकि जीरो बैलेंस अकाउंट में कुछ चीजें हैं जिन्हें ध्यान में रखना होगा। जीरो बैलेंस अकाउंट आमतौर पर प्रति माह सीमित संख्या में लेनदेन की अनुमति देते हैं। बैंक आपको अपने बचत खाते से चार मासिक निकासी की अनुमति देंगे। अगर आप लिमिट से अधिक निकासी करते हैं, तो बैंक आपके जीरो बैलेंस अकाउंट को नियमित सेविंग अकाउंट में परिवर्तित कर देगा। हालांकि कुछ बैंक, इन अतिरिक्त लेनदेन के लिए आपको मामूली शुल्क ले सकते हैं। (ये पढ़ें—पीएफ अकाउंट के ये हैं 4 बड़े फायदे)

जनधन अकाउंट में भी है सुविधा: देशभर में बैंकों द्वारा ऑफर किए जाने वाले बेसिक सेविंग्स अकाउंट या जीरो बैलेंस सेविंग्स अकाउंट के अलावा, प्रधान मंत्री जन धन योजना (PMJDY) के तहत भी एक जीरो बैलेंस सेविंग्स अकाउंट खोला जा सकता है। इस योजना के तहत एक अकाउंट खोलने के लिए किसी केवाईसी दस्तावेज की जरूरत नहीं पड़ती है, इसके लिए सिर्फ हस्ताक्षर और फिंगरप्रिंट ही काफी होता है।

इसमें मिनिमम बैलेंस रखना जरूरी नहीं है। वहीं, अकाउंट होल्डर्स को 1 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा लाभ मिलता है। अगर ग्राहकों ने सरकारी योजनाओं या सब्सिडी के लिए सब्सक्राइब किया है तो वे इस अकाउंट के माध्यम से डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर का लाभ उठा सकते हैं। अकाउंट खुलने के 6 महीने बाद, ग्राहक, ओवरड्राफ्ट सुविधा का लाभ भी मिलता है। (ये पढ़ें-SBI की बीमा कंपनी पर बड़ी कार्रवाई)

Next Stories
1 अनिल अंबानी के सामने नई मुश्किल, यूं कम कर रहे कर्ज का बोझ
2 अदार पूनावाला ने इस कंपनी में बेची अपनी पूरी हिस्सेदारी, 118 करोड़ का हुआ सौदा
3 PM-Kisan: लाभार्थी नहीं, फिर भी आपके बैंक अकाउंट में आए हैं 2000 रुपये, अब करना होगा ये काम
ये पढ़ा क्या?
X