ताज़ा खबर
 

सितंबर की शुरुआत: हड़ताल और छुट्टियों की वजह से 5 दिन तक प्रभावित होंगी बैंकिंग सर्विस

2 सितंबर को रविवार है और इस दिन बैंक बंद रहते हैं। 3 सितंबर को उत्तर भारत में भगवान कृष्ण के जन्म का त्योहार जन्माष्टमी मनाया जाएगा और अधिकतर बैंक रहेंगे।

Author Updated: August 30, 2018 5:15 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर।

अगर आपको बैंक में कुछ जरूरी काम हो तो शुक्रवार (31 अगस्त) को उसे पूरा कर लेने की कोशिश करें, क्योंकि सिंतबर महीने की शुरुआत से ही सरकारी बैंकों की सेवाएं पांच दिनों के लिए प्रभावित रह सकती है। दरअसल इस बार बैंकों की साप्ताहिक छुट्टियां, त्यौहार की छुट्टी और रिजर्व बैंक के अधिकारियों की हड़ताल कुछ इस सिलसिलेवार तरीके से आई है कि एक सितंबर से लेकर 5 सितंबर तक बैंकों का काम या तो बंद रह सकता है या फिर आंशिक रुप से प्रभावित रह सकता है।

इस साल सितंबर महीने की शुरुआत शनिवार से हो रही है। हालांकि महीने के पहले शनिवार को कई बैंक खुले रहते हैं लेकिन कुछ राज्यों में पहले शनिवार को बैंक बंद रहते हैं या फिर आधे दिन ही काम करते हैं। इससे शनिवार (1 सितंबर) को बैंकों के काम काज पर असर पड़ेगा। 2 सितंबर को रविवार है और इस दिन बैंक बंद रहते हैं। 3 सितंबर को उत्तर भारत में भगवान कृष्ण के जन्म का त्योहार जन्माष्टमी मनाया जाएगा और अधिकतर बैंक रहेंगे। अब आता है 4 और 5 सितंबर। यूनाडेटड फोरम ऑफ रिजर्व बैंक ऑफिसर्स एंड एम्पलॉयी (UFRBOE) के सदस्य अपनी मांगों को लेकर सामूहिक अवकाश पर जाने वाले हैं। अगर रिजर्व बैंक के अधिकारी 2 दिनों की छुट्टी पर चले गये तो व्यावसायिक बैंक का काम-काज पूरी तरह से चरमरा जाएगा। 6 और 7 सितंबर के बाद 8 सितंबर को शनिवार और 9 सितंबर को रविवार है।

बता दें कि रिजर्व बैंक के कर्मचारी अंशदायी भविष्य निधि (सीपीएफ) का विकल्प चुनने वाले स्टाफ को पेंशन योजना का लाभ लेने का विकल्प देने की मांग कर रहे हैं। इसके अलावा UFRBOE की मांग है कि 2012 से नियुक्त कर्मचारियों को अतिरिक्त भविष्य निधि लाभ दिया जाए। रिजर्व बैंक के कर्मचारियों द्वारा सामूहिक छुट्टी पर चले जाने की वजह से कई तरह की बैंकिंग गतिविधियां प्रभावित होंगी। सामूहिक छुट्टी की वजह से एटीएम लेन-देन, बैंक शाखाओं में जमा, फिक्स्ड डिपोजिट नवीनीकरण, सरकारी ट्रेजरी का ऑपरेशन, मनी मार्केट ऑपरेशन प्रभावित हो सकता है। हालांकि ऑनलाइन बैंकिंग की सेवा उपलब्ध रहेगी। अच्छा होगा कि आप अपने बैंक में जाकर अथवा फोन द्वारा 1 से लेकर 5 सितंबर के बीच का पूरा शेड्यूल पता कर लें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 मोदी सरकार ने लिया ऐसा फैसला, महंगी हो सकती है घरेलू रसोई गैस और सीएनजी
2 नीरव मोदी का कारनामा, चार कंपनियों से बिकवाया था एक ही हीरा
3 भारत में उड़ने वाली कारें! UBER ने किया बड़ी योजना का ऐलान