बैंक ऑफ बड़ौदा ने दिया मार्च की होम और ऑटो लोन की किस्त वापस करने का आदेश, जानें- कैसे ले सकते हैं रिफंड

Bank of Baroda EMI moratorium: बैंक ऑफ बड़ौदा ने ग्राहकों को मार्च में चुकाई हुई होम और ऑटो लोन की किस्तों को वापस लेने का ऑफर दिया है। कोरोना वायरस संक्रमण के संकट के चलते रिजर्व बैंक की ओर से बैंकों को तीन महीने के लिए किस्तें होल्ड करने का ऑफर दिया गया था।

bank of baroda news
भारतीय करंसी।

Bank of Baroda EMI moratorium: सरकारी क्षेत्र के बैंक ऑफ बड़ौदा ने ग्राहकों को मार्च में चुकाई हुई होम और ऑटो लोन की किस्तों को वापस लेने का ऑफर दिया है। कोरोना वायरस संक्रमण के संकट के चलते रिजर्व बैंक की ओर से बैंकों को तीन महीने के लिए किस्तें होल्ड करने का ऑफर दिया गया था। इसी के चलते बैंक ऑफ बड़ौदा ने ग्राहकों को यह सुविधा देने का ऐलान किया है। हालांकि सिर्फ होम लोन और ऑटो लोन वाले ग्राहकों को ही यह सुविधा मिलेगी। 1 मार्च से 31 मार्च, 2020 तक दी गई किस्तों को ग्राहक वापस ले सकते हैं।

बैंक के सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर संजीव चड्ढा ने कहा कि ऐसे भी कई मामले हैं, जिनमें लोगों ने पहले ही किस्त अदा कर दी थी क्योंकि आरबीआई की ओर से आदेश मार्च के आखिरी सप्ताह में आय़ा था। चड्ढा ने कहा, ‘हम ऐसे ग्राहकों को अपनी मार्च की किस्त वापस लेने का विकल्प दे रहे हैं, जिन्होंने पहली अदा कर दी है। उन्हें बैंक से इसके लिए रिक्वेस्ट करनी होगी और हम उनके बैंक खाते में पैसे वापस ट्रांसफऱ कर देंगे। यह विशेष परिस्थितियां हैं और संकट के इस दौर में उनकी चिंता यह होगी कि कुछ पैसे अपने पास रखे जाएं।’

उन्होंने कहा कि आरबीआई की यह सोच है कि ग्राहकों को फायदा पहुंचाया जाए और हम उसके साथ हैं। उन्होंने कहा कि बैंक की ओर से मूलधन और ब्याज की वापसी की जाएगी, जो पहले ही ग्राहकों से काटी जा चुकी है। यही नहीं बैंक ने कहा कि मोराटोरियम की अवधि के दौरान ग्राहकों से किसी भी तरह की मांग नहीं की जाएगी।

उन्होंने कहा कि बैंक ने अपने ग्राहकों से संपर्क किया है और पूछा है कि क्या वे अपनी किस्तों को होल्ड करना चाहते हैं या फिर जारी रखना चाहते हैं। बैंक की ओर से ग्राहकों को मेसेज भेजे जा रहे हैं और यदि ग्राहक किस्तों को सस्पेंड करना चाहते हैं तो उस मेसेज के जवाब में रिक्वेस्ट कर सकते हैं। आरबीआई की तीन माह की मोहलत के बारे में स्पष्ट करते हुए चड्ढ़ा ने कहा कि कारोबार कर्ज के मामले में बकाया ऋण पर ब्याज तीन महीने की रोक के बाद देना होगा। उन्होंने कहा, ‘जहां तक होम और कार लोन की बात है तो इस मामले में हम कर्ज की मियाद बढ़ा रहे हैं।’

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

पढें व्यापार समाचार (Business News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट