ताज़ा खबर
 

बजाज ऑटो की बिक्री पांच प्रतिशत बढ़ी, घरेलू बाजार में अब भी हालत ‘चिंताजनक’

नवंबर के महीने में पिछले साल के मुकाबले बजाज ऑटो की सेल में 5 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई। हालांकि घरेलू बाजार में अब भी सकारात्मक संकेत नहीं मिला है।

bajaj autoनवंबर में 5 फीसदी बढ़ी बजाज ऑटो की सेल।

दोपहिया कंपनी बजाज ऑटो की कुल बिक्री नवंबर में पांच प्रतिशत बढ़कर 4,22,240 इकाई पर पहुंच गई है लेकिन घरेलू बाजार में त्योहारी सीजन के बावजूद कोई सकारात्मक संकेत नहीं मिले। नवंबर, 2019 में कंपनी ने 4,03,223 वाहन बेचे थे। बीएसई को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा कि नवंबर में घरेलू बाजार में उसकी बिक्री चार प्रतिशत घटकर 1,98,933 इकाई रह गई, जो पिछले साल समान महीने में 2,07,775 इकाई रही थी।

कंपनी के सीईओ राजीव बजाज ने पहले भी इस बात को लेकर चिंता जाहिर की थी। उन्होंने कहा था कि त्योहारी सीजन में तो सकारात्मक संकेत मिल सकते हैं लेकिन उसके बाद क्या होगा? कंपनी की कुल मोटरसाइकिल बिक्री 12 प्रतिशत बढ़कर 3,84,993 इकाई पर पहुंच गई, जो पिछले साल समान महीने में 3,43,446 इकाई रही थी। हालांकि, कंपनी की वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री 38 प्रतिशत घटकर 37,247 इकाई रह गई, जो एक साल पहले समान महीने में 59,777 इकाई रही थी।

नवंबर में कंपनी का निर्यात 14 प्रतिशत बढ़कर 2,23,307 इकाई पर पहुंच गया। नवंबर, 2019 में कंपनी ने 1,95,448 वाहनों का निर्यात किया था। राजीव बजाज ने कहा था कि देश में लॉकडाउन होने के बाद ऑटो सेक्टर में ग्रोथ नहीं दर्ज की गई। उन्होंने कहा कि रिटेल सेक्टर में ज्यादा ही संघर्ष करना पड़ रहा है। उनका कहना था कि फेस्टिवल के सीजन में सेल बढ़ी है लेकिन यह स्थाई नहीं है। उन्हें इस बात की भी चिंता है कि दिसंबर में जब स्पर्धा खत्म हो जाएगी तो सेल और गिर सकती है।

राजीव बजाज ने यह भी कहा था कि सेल को बढ़ाने और ऑटो सेक्टर को गति देने के लिए जीएसटी में बदलाव किया जाना चाहिए और एमएसएमई सेक्टर को बल मिलना चाहिए। दरअसल लॉकडाउन से पहले भी ऑटो सेक्टर में बड़ी गिरावट देखी गई थी। लॉकडाउन के बाद लोगों की नौकरियां चली गईं और खरीद और ज्यादा कम हो गई। पिछले कुछ दिनों में बीएसई में बजाज ऑटो के शेयर अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं।

लॉकडाउन के बाद निर्यात तो बढ़ा है लेकिन घरेलू बाजार अब भी ज्यादा खर्च करने के लिए तैयार नहीं है। ऑटो सेक्टर के कारोबारियों को त्योहारी सीजन से ज्यादा उम्मीदें रहती हैं लेकिन इस बार उन्हें निराशा ही हाथ लगी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दूसरों को नीचा दिखाने में नहीं, खुद को ऊंचा उठाने में वक्त लगाओ- बोले India TV के रजत शर्मा, ट्रोल्स ने कहा- काश यही आप Republic के अर्णब के साथ करते
2 यूपी में कोव‍िड जांच रज‍िस्‍ट्रेशन में फर्जीवाड़ा, आप का तंज- योगी सरकार का कोरोना से लड़ने का मॉडल भी कमाल है
3 गैस के दाम से लेकर बीमा की किश्तों तक…1 दिसंबर से बदल जाएंगी ये चीजें, जानें- आप पर कितना पड़ेगा प्रभाव
Indi vs Aus 4th Test Live:
X