ताज़ा खबर
 

नए साल में रूचि सोया के निवेशकों को नुकसान, रामदेव ने 4,350 करोड़ रुपये में खरीदी थी कंपनी

सप्ताह के तीसरे कारोबारी दिन रुचि सोया के शेयर में गिरावट रही। कारोबार के अंत में रुचि सोया का शेयर 1.26% लुढ़क कर 625 रुपये के भाव पर बंद हुआ।

ruchi soya, ramdev, share priceरूचि सोया न्यूट्रीला ब्रांड से उत्पाद बेचती है (Photo-indian express )

पतंजलि आयुर्वेद समूह की कंपनी रूचि सोया के लिए नए साल की शुरुआत कुछ ठीक नहीं है। इस साल के शुरुआती 20 दिनों में निवेशकों को बड़ा नुकसान हो चुका है।

शुरुआती 20 दिन के आंकड़ों पर गौर करें तो रूचि सोया का शेयर भाव करीब 45 रुपये कम हो गया है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज यानी बीएसई की वेबसाइट के मुताबिक साल के पहले दिन यानी 1 जनवरी 2021 को शेयर भाव 672 रुपये के स्तर पर था। बीते 52 हफ्ते की बात करें तो रूचि सोया का शेयर भाव आधा हो चुका है। रूचि सोया का 29 जून 2020 का शेयर भाव 1535 रुपये के स्तर पर था। वहीं, ये अब 625 रुपये के भाव पर आ चुका है।

बुधवार को क्या रहा हालः बीएसई की वेबसाइट के मुताबिक सप्ताह के तीसरे कारोबारी दिन बुधवार को रुचि सोया के शेयर में गिरावट रही। कारोबार के अंत में रुचि सोया का शेयर 0.77% लुढ़क कर 627 रुपये के भाव पर बंद हुआ। मार्केट कैपिटल की बात करें तो 18,550 करोड़ रुपये है।

आपको बता दें कि बीते साल रुचि सोया इंडस्ट्रीज लिमिटेड के शेयरधारकों ने योग गुरू बाबा रामदेव, उनके छोटे भाई राम भारत और आचार्य बालकृष्ण को कंपनी के निदेशक मंडल में शामिल किये जाने को मंजूरी दी है। रूचि सोया न्यूट्रीला ब्रांड से उत्पाद बेचती है। पतंजलि आयुर्वेद ने 4,350 करोड़ रुपये में रूचि सोया का अधिग्रहण किया था।

इस बीच, बुधवार को बीएसई सेंसेक्स 394 अंक यानी 0.8 फीसदी की तेजी के साथ 49792 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी भी 123.5 अंक यानी 0.85 फीसदी की तेजी के साथ 14645 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 21 तेजी के साथ बंद हुए। इसी तरह निफ्टी के 50 शेयरों में से 32 तेजी के साथ बंद हुए।

रुपये में लगातार दूसरे दिन बुधवार को तेजी बनी रही। घरेलू शेयर बाजार में उछाल और अमेरिकी डॉलर के अन्य मुद्राओं के समक्ष नरम होने के बीच रुपया प्रति डॉलर 12 पैसे और सुधर कर 73.05 पर बंद हुआ। पिछले बंद भाव के मुकाबले रुपये में यह 12 पैसे की तेजी दर्शाता है। मंगलवार को रुपया 73.17 प्रति डॉलर पर बंद हुआ था।

Next Stories
1 महीनों लापता रहने के बाद नजर आए चीन के अरबपति जैक मा, कोरोना काल में मुकेश अंबानी ने दी थी मात
2 TATA की इस कंपनी में भी हिस्सेदारी बेचेगी केंद्र सरकार, 8400 करोड़ रुपये मिलने की है उम्मीद
3 मुकेश अंबानी की दौलत हुई कम, लेकिन रिलायंस इंडस्ट्रीज के निवेशकों को बड़ा फायदा
कोरोना LIVE:
X