scorecardresearch

पब्लिक से 4300 करोड़ जुटाएगी रुचि सोया, जानिये तीन साल में रामदेव की पतंजलि ने कैसे बदली कंपनी की सूरत

पतंजलि आयुर्वेद ने 2019 में रुचि सोया को 4350 करोड़ रुपए में खरीदा था। रुचि सोया का खाद्य तेलों में मार्केट शेयर लगभग 14% है।

ruchi soya fpo date,ruchi soya patanjali,
मीडिया से प्रेस वार्ता के दौरान बाबा रामदेव (फोटो क्रेडिट : पीटीआई)

बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद के स्वामित्व वाली रुचि सोया (रुचि सोया) ने 4300 करोड़ रुपये शेयर बाजार से जुटाने की योजना बनाई है। कंपनी यह रकम फॉलो-अप पब्लिक ऑफर (FPO) के जरिए जुटाएगी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस महीने के अंतिम सप्ताह या फिर मार्च के पहले हफ्ते में रुचि सोया शेयर बाजार में एफपीओ लेकर आ सकती है। बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) से कंपनी को पिछले साल अगस्त में 4300 करोड़ रुपये के एफपीओ के लिए मंजूरी मिल गई थी।

FPO लाने का कारण

सेबी के द्वारा लागू किए गए बाजार नियमों के तहत किसी भी पब्लिक लिस्टेड कंपनी में प्रमोटरों की हिस्सेदारी 75 फ़ीसदी से अधिक नहीं हो सकती और प्रमोटरों को कंपनी शेयर बाजार में लिस्ट होने के 3 साल के अंदर कम से कम 25 फ़ीसदी हिस्सेदारी पब्लिक को देनी होती है। वर्तमान में रुचि सोया में प्रमोटरों की हिस्सेदारी 99 फीसदी है। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि रुचि सोया के आने वाले एफपीओ के जरिए कंपनी कम से कम 9 फीसदी हिस्सा बेच सकती है।

FPO क्या है?

जब भी कोई कंपनी पहली बार शेयर बाजार में सार्वजनिक तौर पर अपनी हिस्सेदारी बेचकर पैसे उठाती है तो उसे आईपीओ कहा जाता है। लेकिन शेयर बाजार में पहले से ही लिस्टेड कोई कंपनी नये शेयर अपने पुराने शेयरधारकों या फिर नये निवेशकों को जारी करके पैसे उठाती है तो उसे फॉलो-अप पब्लिक इश्यू (FPO) कहते हैं।

2019 में पतंजलि ने खरीदा था

आपको बता दें, बाबा रामदेव के नेतृत्व वाली पतंजलि आयुर्वेद ने 2019 में ऋण शोधन नीलामी में 4350 करोड़ रुपए में रुचि सोया का अधिग्रहण किया था। रुचि सोया वर्तमान में खाद्य तेलों के साथ अन्य खाद्य उत्पादों का व्यापार करती है। बाबा रामदेव के नेतृत्व में कंपनी ने पिछले 3 सालों में काफी तरक्की की है। कंपनी का खाद्य तेलों में मार्केट शेयर लगभग 14% है। जो इसे देश की दूसरी सबसे बड़ी खाद्य तेल उत्पादन करने वाली कंपनी बनाता है। कंपनी ने देश के पूर्वोत्तर राज्यों में पाम के तेल के बागान शुरू करने की योजना बनाई है। महाकोष, सनरिच, रुचि गोल्ड और न्यूट्रीला कंपनी के प्रमुख ब्रांड हैं।

Multibagger Stock है रुचि सोया

आपको बता दें, शेयर बाजार में रुचि सोया की रिलिस्टिंग 1 फरवरी, 2020 को 21.55 रुपये प्रति शेयर के भाव पर हुई थी। जिसके बाद से रुचि सोया निदेशकों के लिए फायदे का सौदा साबित हुआ है। शुक्रवार 11 फरवरी, 2022 को बाजार बंद होने पर रुचि सोया के शेयर का भाव 843 रूपये प्रति शेयर था। इस लिहाज से देखा जाए तो यदि किसी व्यक्ति ने रुचि सोया के शेयर में 1 फरवरी, 2020 को 21.55 रुपये प्रति शेयर के भाव पर 1 लाख रुपये लगाये होते तो शुक्रवार 11 फरवरी, 2022 तक 843 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से 1 लाख रुपये का निवेश 40,14,285 लाख रुपये तक बढ़ चुका होता।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X