ताज़ा खबर
 

जब गौतम अडानी की कंपनी के खिलाफ कोर्ट पहुंच गए थे रामदेव, जानिए पूरा मामला

रुचि सोया को खरीदने वाली कंपनियों की रेस में पतंजलि आयुर्वेद के अलावा अडानी ग्रुप की कंपनी अडानी विल्मर भी शामिल थी।

ramdev, patanjali newsपतंजलि ने साल 2018 में रुचि सोया का अधिग्रहण किया था (Photo-Indian Express )

योगगुरु रामदेव की पतंजलि आयुर्वेद ने साल 2018 में कर्ज में डूबी कंपनी रुचि सोया का अधिग्रहण किया था।

हालांकि, इस कंपनी के अधिग्रहण में पतंजलि को कई सारी चुनौतियों का सामना करना पड़ा। मसलन, बैंकों से लोन लेने की नौबत आ गई तो वहीं अडानी ग्रुप की कंपनी से भी टक्कर लेनी पड़ी। रामदेव ने तो अडानी ग्रुप के खिलाफ नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) में दरवाजा भी खटखटाया था। आइए जानते हैं इस पूरे मामले को..

क्या था मामला: दरअसल, रुचि सोया को खरीदने वाली कंपनियों की रेस में पतंजलि आयुर्वेद के अलावा अडानी ग्रुप की कंपनी अडानी विल्मर भी शामिल थी। रुचि सोया के लेंडर्स की समिति ने 96 फीसदी मतदान के साथ अडानी विल्मर द्वारा लगाई गई बोली को मंजूरी दे दी थी। रुचि सोया के लेंडर्स की मंजूरी के बाद रुचि सोया के अधिग्रहण की प्रक्रिया में पतंजलि पिछड़ गई थी। लेंडर्स के फैसले को चुनौती देने के लिए पतंजलि ने नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) की मुंबई शाखा का दरवाजा खटखटाया था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक पतंजलि ने आरोप लगाया था कि लेंडर्स ने पूरी प्रक्रिया को सही तरह से फॉलो नहीं किया है। यही नहीं, पतंजलि ने रुचि सोया के रेजॉलुशन प्रफेशनल के सामने अडानी ग्रुप की योग्यता को लेकर सवाल खड़ा किया था। इसके अलावा पतंजलि द्वारा रेजॉलुशन प्रफेशनल से यह सवाल भी किया गया था कि आखिर किस आधार पर अडानी विल्मर को सबसे बड़ी बोली लगाने वाला घोषित किया गया है।

फिर पीछे हट गई अडानी विल्मर: हालांकि, कुछ दिन बाद ही अडानी विल्मर ने रुचि सोया को खरीदने का प्रस्ताव वापस ले लिया। इसकी वजह कंपनी के अधिग्रहण की प्रक्रिया में देरी रही। एक पत्र में अडानी विल्मर की ओर से कहा गया कि रुचि सोया खरीदना उसके शेयरधारकों को लिए हानिकार है। रुचि सोया पर 9,405 करोड़ रुपये का कर्ज और 1,248 करोड़ रुपये लेनदारों के हैं। (ये पढ़ें—रामदेव की कंपनी से 13 निवेशकों की शिकायत)

रुचि सोया के लिए लेना पड़ा कर्ज: कर्ज में डूबी रुचि सोया को खरीदने के लिए पतंजलि ने 3200 करोड़ रुपये का कर्ज लिया था। बता दें कि भारत में ये कंपनी सोया उत्पादन के सबसे बड़े निर्माताओं में से एक है। इसके खुद के बहुत से प्रमुख ब्रांड हैं। इसमें न्यूट्रीला, महाकोश, रुचि गोल्ड, रुचि स्टार और सनरिच जैसे ब्रांड शामिल हैं।

Next Stories
1 PF खाताधारकों के लिए बड़ी खबर, 7 लाख रुपये तक की बीमा को मिली मंजूरी
2 करीब 2 साल से अटकी है मुकेश अंबानी के रिलायंस की डील, अब आई ये खबर
3 Jio को मिली ये सफलता, इधर रिलायंस इंडस्ट्रीज के निवेशकों को हो गया मुनाफा
आज का राशिफल
X