ताज़ा खबर
 

बिकने जा रही 100 साल पुरानी बैटरी कंपनी Eveready, भोपाल गैस त्रासदी वाली कंपनी से रहा है लिंक

एवरेडी के प्रमोटर बी एम खैतान के पास इसके 45 प्रतिशत शेयर हैं। बताया जा रहा है कि 45 फीसदी हिस्सेदारी में से 30 परसेंट शेयर बेचने की योजना है।

Author January 11, 2019 2:54 PM
30 परसेंट शेयर बेचने की योजना है। (फोटो सोर्स : Express Group Photo)

देश की सबसे बड़ी ड्राई सेल बैटरी बनाने वाली कंपनी एवरेडी बिकने जा रही है। मशहूर एवरेडी 100 साल पुरानी कंपनी है। एवरेडी के लिए बोली मंगाई जा रही है। एवरेडी के प्रमोटर बी एम खैतान के पास इसके 45 प्रतिशत शेयर हैं। कहा जा रहा है कि उन्होंने बिक्री प्रक्रिया की जिम्मेदारी के लिए कोटक महिंद्रा बैंक को चुना है। बताया जा रहा है कि 45 फीसदी हिस्सेदारी में से 30 परसेंट शेयर बेचने की योजना है।

टाइम्स ऑफ इंडिया ने मामले से संबंधित एक व्यक्ति के हवाले से यह जानकारी दी। रिपोर्ट्स के अनुसार, खैतान परिवार ने एवरेडी बेचने का फैसला बीते काफी समय से बिक्री में आई सुस्ती के कारण लिया है। वर्तमान में कंपनी की मार्केट वैल्यू 1350 करोड़ बताई जा रही है। एवरेडी 1 अरब 20 करोड़ से ज्यादा बैट्री और 2.5 करोड़ फ्लैश लाइट हर साल बेचती है। इसके ग्रुप कंपनियों में दुनिया की सबसे बड़ी चाय उत्पादक मैकलियाड रसेल, किलबर्न इंजीनियरिंग और मैकनैली भारत सहित अन्य कंपनियां शामिल हैं।

1990 में खैतान परिवार ने काफी लड़ाई के बाद इसका मालिक बन पाया था। उस वक्त बॉम्बे डाइंग के नुस्ली वाडिया के साथ इसे लेकर लड़ाई छिड़ी थी। आखिरकार 300 करोड़ रुपए में खैतान परिवार ने एवरेडी को अपने नाम कर लिया था। 1905 से इस पर यूनियन कार्बाइड इंडिया का मालिकाना हक रहा था।

भोपाल में 34 साल पहले यूनियन कार्बाइड कंपनी के कारखाने से एक जहरीली गैस का रिसाव हुआ था। जिससे 2 दिसंबर की रात 1984 को भयानक हादसा हुआ था। इस हादसे में लगभग 15000 से अधिक लोगों की जानें गईं थी। वहीं हादसे में बचे लोगों को शारीरिक अपंगता से लेकर अंधेपन ने शिकार बना लिया। अमेरिकी कंपनी यूनियन कार्बाइड के प्रमुख रहे वारेन एंडरसन की मौत हो चुकी है। वारेन को भोपाल गैस त्रासदी मामले में भगोड़ा करार दिया गया था। बताया जाता है कि एंडरसन की मौत 29 सितंबर 2014 को ही हो गई थी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X