scorecardresearch

एअर इंडिया बिकने के बाद भी उड्डयन सचिव और पत्नी ने इकॉनमी के पैसे में किया बिजनेस क्लास में सफर

उड्डयन मंत्रालय के सचिव राजीव बंसल और उनकी पत्नी अपर्णा बंसल 7 मई को एयर इंडिया की फ्लाइट एआई-105 से नेवार्क (न्यू जर्सी) के लिए रवाना हुए थे।

Rajiv-Bansal
उड्डयन मंत्रालय के सचिव राजीव बंसल (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

नागरिक उड्डयन मंत्रालय के सचिव राजीव बंसल ने हाल ही में अपनी पत्नी अपर्णा बंसल के साथ अमेरिका की यात्रा की थी। खास बात यह है कि राजीव बंसल ने अपनी बुकिंग की तारीख पर एयर इंडिया इकोनॉमी क्लास के टिकट अन्य यात्रियों की तुलना में सस्ते खरीदे। इसके अलावा, बोर्डिंग के बाद उनकी सीटिंग को बिजनेस क्लास में अपग्रेड भी किया गया। वरिष्ठ नौकरशाह बंसल एयर इंडिया के सीएमडी रह चुके हैं।

1988 बैच के आईएएस अधिकारी बंसल को पिछले साल 22 सितंबर को सचिव नियुक्त किया गया था। इस नियुक्ति की घोषणा सरकार ने एयर इंडिया में अपनी हिस्सेदारी बेचने के निर्णय के एक दिन बाद की थी। राजीव बंसल ने 1 अक्टूबर 2021 को अपना कार्यभार संभाला था।

राजीव बंसल और उनकी पत्नी अपर्णा बंसल 7 मई को एयर इंडिया की फ्लाइट एआई-105 से नेवार्क (न्यू जर्सी) के लिए रवाना हुए थे। उनका इस महीने के अंत में लौटने का कार्यक्रम है। रिकॉर्ड के मुताबिक, निर्धारित उड़ान से एक दिन पहले, चीफ कमर्शियल ऑफिसर के कार्यालय (सीसीओ निपुण अग्रवाल) से एक अधिकारी ने एयर इंडिया के कई अधिकारियों को एक ईमेल लिखकर बंसल दंपति के लिए ‘स्पेशल हैंडलिंग’ और उनकी सीट को बिजनेस क्लास में अपग्रेड के लिए कहा।

रिपोर्ट के मुताबिक, राजीव बंसल और उनकी पत्नी को न केवल बिजनेस क्लास में अपग्रेड किया गया था, बल्कि उन्हें अन्य यात्रियों की तुलना में कम दरों पर इकोनॉमी क्लास का टिकट भी दिया गया था। रिकॉर्ड के मुताबिक, राजीव बंसल का टिकट 1 अप्रैल, 2022 को और उनकी पत्नी का 24 फरवरी, 2022 को बुक किया गया था।

अन्य यात्रियों के लिए उस दिन उस रूट पर राउंड-ट्रिप के टिकट की कीमत लगभग 80,000 रुपए (24 फरवरी) और लगभग 1.41 लाख रुपए (1 अप्रैल) थीं। सूत्रों ने बताया कि बंसल और उनकी पत्नी का टिकट ‘बहुत कम दर’ पर बुक किया गया था। जब राजीव बंसल से इस अपग्रेड और उनके टिकटों के कम किराए के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पहले, एयरलाइन के मालिकों से इस तथ्य की पुष्टि कर लें।

जब एयर इंडिया के सीसीओ अग्रवाल से उनके ऑफिस द्वारा भेजे गए ईमेल के बारे में पूछा गया, जिसमें स्पेशल हैंडलिंग और अपग्रेड के लिए कहा गया था, इसका जवाब देते हुए कॉरपोरेट मामलों के ईडी, अरुणा गोपालकृष्णन ने व्यक्तिगत मामलों पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। बता दें कि टाटा सन्स ने एयर इंडिया को 18000 करोड़ की बोली लगाकर खरीदा था।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट