ताज़ा खबर
 

अडानी ग्रुप के पक्ष में बोले ऑस्ट्रेलिया के पीएम, कहा खतरनाक होगा कोल प्रोजेक्ट को रद्द करना

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री टोनी अबॉट ने भारत के अडाणी ग्रुप की विवादास्पद कोयला खान परियोजना का पक्ष लिया है। टोनी ने कहा कि 16.5 अरब डॉलर की यह परियोजना बेहद महत्वपूर्ण है। इस तरह की विकास योजनाओं में अदालतों का इस्तेमाल कर अड़ंगा लगाना देश के लिए खतरनाक है।

भारत के अडानी ग्रुप के पक्ष में बोले ऑस्ट्रेलिया के पीएम, कहा खतरनाक होगा कोल प्रोजेक्ट को रद्द करना

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री टोनी अबॉट ने भारत के अडाणी ग्रुप की विवादास्पद कोयला खान परियोजना का पक्ष लिया है। टोनी ने कहा कि 16.5 अरब डॉलर की यह परियोजना बेहद महत्वपूर्ण है। इस तरह की विकास योजनाओं में अदालतों का इस्तेमाल कर अड़ंगा लगाना देश के लिए खतरनाक है।

उन्होंने कहा कि अगर उच्च पर्यावरण मानकों को हासिल करने का प्रयास कर रही परियोजनाओं की राह में रुकावट डालने के लिए अदालत को हथियार बनाया जा सकता है तो यह एक देश के तौर पर हमारे लिए उनके लिए सबसे बड़ी समस्या को क्रियेट करना होगा। उन्होंने कहा कि ‘हम रोकने वालों का देश नहीं बनना है। हमें ऐसा देश बनना है, जिसमें ऐसे लोगों को काम करने की आजादी हो, जो कानून के मुताबिक काम करते हों।

गौरतलब है कि ऑस्ट्रेलिया में अडाणी समूह के कोयला खदान का लाइसेंस रद्द करने के अदालती फैसले के बाद भारत के बड़े बिजनेसमैन के पक्ष में यह बयान आया है। पीएम टोनी एबॉट ने कहा कि पर्यावरण व अन्य पहलुओं का हवाला देकर प्रोजेक्टस रोकना देश के लिए खतरनाक होगा। इस प्रोजेक्ट से ऑस्ट्रेलियाई सरकार को 1.38 लाख करोड़ रुपए का फायदा होगा।

पीएम एबॉट ने अडाणी प्रोजेक्ट्स पर कहा कि हम ऐसे देश की छवि नहीं बनाना चाहते जो विकास के काम में भी अड़ेगा लगाता हो। पीएम के मुताबिक अडाणी का यह प्रोजेक्ट क्वींसलैंड और वहां के बाशिंदों के लिए बेहद उपयोगी साबित होगा।

इसकी मदद से 10 हजार लोगों को नौकरियां मिलेंगी। ऑस्ट्रेलिया के फेडरल कोर्ट ने अडाणी के 16 अरब डॉलर (1 लाख करोड़ रुपए से अधिक) के कोल प्रोजेक्ट को पर्यावरण नुकसान की आशंका के कारण रद्द कर दिया है।

पर्यावरण समूहों ने सरकार पर आरोप लगाया था कि अडाणी को प्रोजेक्ट की मंजूरी देते समय येका छिपकली और सजावटी सांप जैसी खास प्रजातियों की देखभाल या उन्हें होने वाले खतरे को ध्यान में नहीं रखा गया।

बहरहाल, एबॉट ने कहा कि खदान और अडाणी के अन्य प्रोजेक्ट्स से भारत पर भी सकारात्मक असर पड़ेगा। बिजली आदि से लेकर कई तरह के फायदे अदाणी के इस प्रोजेक्ट से होंगे और उनकी सेवाओं का ग्लोबल विस्तार होगा। अडाणी ऑस्ट्रेलिया में कारमाइल माइन और रेल प्रोजेक्ट शुरू करना चाहते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App