ताज़ा खबर
 

ऐसे एटीएम से पैसा निकालते वक्‍त होती है डेटा चोरी, जानिए कैसे करें बचाव

ATM Card: स्कीमर एक ऐसी डिवाइस होती जो एटीएम मशीन में जहां कार्ड लगाते हैं वहां लगा दी जाती है। इससे जब कोई पैसे निकालने आता है तो उसे पता ही नहीं होता कि यहां स्कीमर लगा हुआ है।

जालसाज एटीएम में एक कैमरा भी लगाते हैं जिस कैमरे में वह पासवर्ड रिकॉर्ड करते हैं।

एटीएम से फर्जी तरीके से दूसरों के खाते से पैसे निकलने के कई मामले आपने सुने होंगे। दरअसल यह सब स्कीमर का खेल है। स्कीमर से जालसाज एटीएम कार्ड का क्लोन बना लेते हैं और खाते से पैसा निकाल लेते हैं। स्कीमर एक ऐसी डिवाइस होती जो एटीएम मशीन में जहां कार्ड लगाते हैं वहां लगा दी जाती है। इससे जब कोई पैसे निकालने आता है तो उसे पता ही नहीं होता कि यहां स्कीमर लगा हुआ है। दरअसल यह डिवाइस उसी जगह में फिट हो जाती है जहां कार्ड लगता है। जब कोई इसमें कार्ड लगाता है तो यह कार्ड का डेटा कॉपी कर लेती है और फिर जालसाज उसी डेटा का दूसरा कार्ड बनाकर वह उस कार्ड से पैसे निकाल लेते हैं। इसके अलावा वह एटीएम में एक कैमरा भी लगाते हैं जिस कैमरे में वह पासवर्ड रिकॉर्ड करते हैं। दरअसल वह कैमरा ऐसी जगह लगाते हैं जहां से पासवर्ड आसानी से रिकॉर्ड किया जा सके।

ऐसे करें बचाव: एटीएम से पैसे निकालने से पहले जहां कार्ड लगाते हैं वहां देख लें कि जालसाजों ने कोई स्कीमर तो नहीं लगा रखा है। इसके अलावा हाथ से स्वैपिंग पॉइंट को पकड़कर देखें कि वह हिल तो नहीं रहा है। अगर हिल रहा है तो कोई गड़बड़ है। स्वैपिंग पॉइंट के अगल-बगल हाथ लगाकर देखें। कोई वस्तु नजर आए तो सावधान हो जाएं। कार्ड की क्लोनिंग के लिए बनाए गए स्कीमर का डिजाइन ऐसा बनाया गया है कि वह कार्ड का ही हिस्सा लगता है। इसके बाद कीपैड भी चेक करें। कीपैड का एक कोना दबाकर देखें, अगर पैड स्कीमर होगा तो एक सिरा उठ जाएगा।

मौजूदा समय में जरूरी है कि डेबिट कार्ड का पिन बदल दें। इससे जालसाजों के जाल में फंसने से बच सकते हैं। इसके बाद अगर आपको कोई शक है तो कार्ड का पिन बदल लें। वहीं अगर आपने पैसे निकाल लिए हैं और आपको पता चला कि आपके कार्ड की क्लोनिंग हो चुकी है, तो एटीएम में ही खड़े होकर पुलिस को कॉल करें और इसकी जानकारी संबंधित बैंक को भी दे दें। साथ ही एटीएम को तब तक छोड़कर न जाएं जब तक कि पुलिस या बैंक से संबंधित लोग मौके पर न आ जाएं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App