ताज़ा खबर
 

उत्तर कोरिया में परमाणु परीक्षण के बाद ज्यादातर एशियाई बाज़ार लुढ़के

सिडनी और सिंगापुर के बाजारों में 0.9-0.9 प्रतिशत की गिरावट दर्ज हुई जबकि ताइपेई, जकार्ता और मनीला के बाजारों में भारी गिरावट रही।

Author हांगकांग | September 9, 2016 4:13 PM
उत्तर कोरिया द्वारा सोमवार (5 सितंबर,2016) को किए गए तीन बैलिस्टिक मिसाइलों के परीक्षण की तस्वीर। (AP/PTI)

उत्तर कोरिया द्वारा एक और परमाणु परीक्षण किए जाने के बाद दक्षिण कोरिया के शेयर बाजारों की अगुवाई में ज्यादातर एशियाई बाजारों में गिरावट का रुख रहा। वैश्विक केंद्रीय बैंकों की अपनी मौद्रिक नीति को और उदार बनाए जाने को लेकर बढ़ती चिंता से भी कारोबारी धारणा प्रभावित हुई। उत्तर कोरिया ने कहा कि उसने अपना पांचवां परमाणु परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है। दक्षिण कोरिया ने इसे अब तक का सबसे बड़ा परीक्षण बताया। इस खबर से इस क्षेत्र में भू-राजनैतिक तनाव संबंधी चिंता बढ़ गई है क्योंकि चीन समेत वैश्विक शक्तियां उत्तर कोरिया के बेतरतीब व्यवहार पर अंकुश लगाने की कोशिश कर रही हैं। दक्षिण कोरिया का शेयर बाजार कोस्पी अपराह्न 1.5 प्रतिशत नीचे चल रहा था जबकि बैंक ऑफ कोरिया के ब्याज दर न घटाने के फैसले से भी उसकी मुद्रा वोन में 0.8 प्रतिशत की गिरावट पर लगाम नहीं लग सकी।

इधर, सिडनी और सिंगापुर के बाजारों में 0.9-0.9 प्रतिशत की गिरावट दर्ज हुई जबकि ताइपेई, जकार्ता और मनीला के बाजारों में भारी गिरावट रही। जापान का निक्केई, हालांकि, शुरुआती नुकसान से उबर कर बाद में 0.1 प्रतिशत चढ़ा। इसके अलावा बाजारों में केंद्रीय बैंकों द्वारा वैश्विक अर्थव्यवस्था में नरमी से निपटने के लिए कोई कदम न उठा पाने से जुड़ी चिंता के कारण भी दबाव पड़ा। यूरोपीयन सेंट्रल बैंक (ईसीबी) ने नए प्रोत्साहन के उलट विकल्प अपनाया और इसके अध्यक्ष मारियो द्रागी ने पूंजी प्रणाली में डाली गई विशाल राशि के असर होने तक धैर्य रखने का संदेश दिया। उनसे किसी पहल की उम्मीद नहीं थी लेकिन भविष्य के संबंध में कोई अनुमान जाहिर न करने से बाजार को निराशा हुई।

तोक्यो के कारोबारी भी जापान के केंद्रीय बैंक की ओर से गतिविधियों में कमी के बारे में चिंतित रहे। एएनजेड बैंक न्यूजीलैंड के ऑकलैंड स्थित वरिष्ठ अर्थशास्त्री, फिलिप बोर्किन ने ग्राहकों के लिए तैयार रपट में कहा, ‘ईसीबी और कई अन्य केंद्रीय बैंक अब पिछले कुछ दिनों के मुकाबले अतिरिक्त नीतिगत उदारता के मामले में नपा-तुला रवैया अपना रहा हैं।’ हांगकांग में शेयर बाजार में एक प्रतिशत की तेजी आई जबकि शंघाई के बाजार में ज्यादा फेर-बदल नहीं हुआ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App