ताज़ा खबर
 

इस साल गौतम अडानी की 2.50 लाख करोड़ रुपये बढ़ी दौलत, इन कंपनियों ने दिया बूस्ट

गौतम अडानी की बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड 6 कंपनियों का मार्केट कैपिटल जबरदस्त तरीके से बढ़ा है।​ इसी का फायदा गौतम अडानी को मिला है। सिर्फ एक साल में मार्केट कैपिटल 41 गुना बढ़ गया है।

गौतम अडानी (Photo-PTI )

अडानी समूह के मुखिया गौतम अडानी अब एशिया के दूसरे सबसे दौलतमंद अरब​पति बन गए हैं। गौतम अडानी से आगे भारत के ही मुकेश अंबानी हैं।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी और गौतम अडानी के बीच दौलत का अंतर 6 बिलियन डॉलर से ज्यादा है। जिस रफ्तार से गौतम अडानी की दौलत बढ़ रही है, ऐसा माना जा रहा है कि वह बहुत जल्द मुकेश अंबानी को पछाड़ देंगे। आइए जानते हैं कि गौतम अडानी की दौलत में इजाफे की सबसे बड़ी वजह क्या है और किन कंपनियों की वजह से उन्हें फायदा मिल रहा है।

क्या है वजह: दरअसल, गौतम अडानी की बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड 6 कंपनियों का मार्केट कैपिटल जबरदस्त तरीके से बढ़ा है।​ इसी का फायदा गौतम अडानी को मिला है। सिर्फ एक साल में मार्केट कैपिटल 41 गुना बढ़ गया है। अडानी समूह की जिन कंपनियों को बूस्ट मिला है, उसमें अडानी ग्रीन एनर्जी, अडानी पोर्ट्स और अडानी एंटरप्राइजेज और अडानी टोटल गैस शामिल हैं।

पिछले 1 साल में शेयर बाजार में अडानी टोटल गैस का शेयर 114 गुना बढ़ा है। ये सबसे ज्यादा ग्रोथ वाला शेयर है। अडानी एंटरप्राइजेज का शेयर 80 फीसदी से ज्यादा बढ़ा है जबकि अडानी ट्रांसमिशन का शेयर 61 गुना बढ़ा है। अडानी ग्रीन एनर्जी का शेयर 43 गुना बढ़ा है और अडानी पावर का शेयर 18 गुना से ज्यादा बढ़ा है। (ये पढ़ें—मुकेश अंबानी से आगे निकलने की कोशिश में गौतम अडानी, लेकिन आसान नहीं ये मुकाम)

कितनी है दौलत: आपको बता दें कि गौतम अडानी की दौलत 69 बिलियन डॉलर है। अडानी की रैंकिंग 14वीं है। वहीं, बात करें मुकेश अंबानी की तो संपत्ति 77 बिलियन डॉलर है। मुकेश अंबानी की रैंकिंग 13वीं है। रिपोर्ट के मुताबिक इस साल मुकेश अंबानी की संपत्ति में 1,300 करोड़ रुपये की कमी आई है। जबकि गौतम अडानी की संपत्ति में 2.50 लाख करोड़ रुपये की बढ़त हुई है।

किसका क्या कारोबार: वर्तमान में अडानी ग्रुप पोर्ट, एयरपोर्ट, एनर्जी, रिसोर्सेस, एग्री बिजनेस, रियल इस्टेट, फाइनेंशियल सर्विसेस, गैस, लॉजिस्टिक, पैकेज्ड फूड्स और डिफेंस से संबंधित मैन्युफैक्चरिंग में काम कर रहा है। रिलायंस इंडस्ट्रीज की बात करें तो यह पेट्रोकेमिकल्स के अलावा टेलीकॉम, रिटेल में सक्रिय है।

खासकर इसका जियो ब्रांड ऑन लाइन डिलिवरी यानी ई-कॉमर्स और टेलीकॉम में एक स्थापित ब्रांड है। रिटेल में रिलायंस रिटेल इसका भारत का सबसे बड़ा ब्रांड है। (ये पढ़ें-जब जेपी ग्रुप से अचानक टूट गई अनिल अंबानी के कंपनी की डील, बताई थी ये वजह)

Next Stories
1 केंद्र सरकार का 1.5 करोड़ से अधिक कामगारों को तोहफा, वैरिएबल DA में बड़ा इजाफा
2 कोरोना संकट में भी SBI को बंपर मुनाफा, एक झटके में मालामाल हुए निवेशक, ग्राहकों के लिए भी अलर्ट
3 मुकेश अंबानी से ज्यादा है TCS के CEO की सैलरी, यहां रिलायंस से मिलती है टक्कर
ये पढ़ा क्या?
X