ताज़ा खबर
 

देश में मोबाइल फोन यूजर्स की संख्या 103.5 करोड़ पहुंची, शीर्ष पांच टेलीकॉम कंपनियों में BSNL की हुई वापसी

ट्राई के रिपोर्ट के मुताबिक सर्वजनिक क्षेत्र की कंपनी बीएसएनएल नए उपभोक्ता जोड़ने के मामले में एयरटेल के बाद दूसरे स्थान पर रही है। बीएसएनएल के साथ 13 लाख नए ग्राहक जुड़े हैं।

Author September 10, 2016 4:47 PM
रपट के अनुसार जून 2016 में भारत में 61.6 करोड़ मोबाइल उपभोक्ता हैं।

दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) की ओर से जाारी किए गए आधिकारिक आंकड़ो के मुताबिक इस साल जून के अंत तक भारत में मोबाइल उपभोक्ताओं की संख्या 103.5 करोड़ पहुंच गई है। ट्राई ने कहा कि देश में मोबाइल उपयोक्ताओं की संख्या में 0.19 प्रतिशत की मासिक वृद्धि दर्ज की गई है। वहींं, सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी बीएसएनएल एक बार फिर शार्ष 5 टेलीकॉम कंपनियों में शामिल हो गया है। ट्राई के मुताबिक जून के अंत तक देश में मोबाइल और लैंडलाइन उपभोक्ताओं की कुल संख्या 105.98 करोड़ पहुंच गई है। इस साल मई में यह आंकड़ा 105.8 करोड़ था।

देश में दूरसंचार उपभेक्ताओं की संख्या में मासिक आधार पर 0.17 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है। ट्राई ने अपनी मासिक रिपोर्ट में बताया है कि जून के अंत तक देश में दूरंसचार घनत्व (आबादी के अनुपात में फोन कनेक्शन) बढ़कर 83.20 हो गया है। मई में यह आंकड़ा 83.14 था। ट्राई के मुताबिक जून में लैंडलाइन उपभोक्ताओं की संख्या घटकर 2.47 करोड़ हो गई, जबकि मई में यह संख्या 2.48 करोड़ थी। कंपनियों की दृष्टि से भारती एयरटेल के साथ 14 लाख नए उपभोक्ता जुड़े हैं और उसके कुल उपभोक्ताओं की संख्या 25.57 करोड़ पहुंच गई है। एयरटेल इस लिहाज से भारत की सबसे बड़ी दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी है।

इस सूची में 19.94 करोड़ ग्राहकों के साथ वोडाफोन दूसरे और 17.62 करोड़ ग्राहकों के साथ आइडिया तीसरे स्थान पर है। ट्राई के रिपोर्ट के मुताबिक सर्वजनिक क्षेत्र की कंपनी बीएसएनएल नए उपभोक्ता जोड़ने के मामले में एयरटेल के बाद दूसरे स्थान पर रही है। बीएसएनएल के साथ 13 लाख नए ग्राहक जुड़े हैं और इस प्रकार उसके कुल ग्राहकों की संख्या 8.95 करोड़ हो गई है। बीएसएनएल एयरसेल को पीछे छोड़ते हुए देश की शीर्ष पांच दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनियों में शामिल हो गई है। इस दौरान एयरसेल ने अपने खाते में 6 लाख नए ग्राहक जोड़े हैं। वोडाफोन 7 लाख और आइडिया 6 लाख नए ग्राहक जोड़ने में सफल रहे हैं।

Read Also: ग्रेटर नोएडा के डिफॉल्टर बिल्डर्स में शामिल कई टॉप बिल्डर्स, मुश्किल में फ्लैट खरीददार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App