ताज़ा खबर
 

अरुण जेटली ने ‘आप’ को मिले चंदे को कालाधन दिया करार

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी ऐसी कंपनियों से धन हासिल करने में ‘रंगे हाथ पकड़ी गई’ जिनका कोई कारोबार नहीं था। उन्होंने कहा कि आप अब इस तथ्य से ध्यान हटाने की रणनीति अपनाए हुए है। जेटली ने 50-50 लाख रुपए के चार चेक के जरिए दो करोड़ […]

वित्तमंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी ऐसी कंपनियों से धन हासिल करने में ‘रंगे हाथ पकड़ी गई’ जिनका कोई कारोबार नहीं था। उन्होंने कहा कि आप अब इस तथ्य से ध्यान हटाने की रणनीति अपनाए हुए है।

जेटली ने 50-50 लाख रुपए के चार चेक के जरिए दो करोड़ रुपए के चंदे को घुमा फिरा कर कालेधन को हासिल करने का स्पष्ट मामला करार दिया और संकेत दिया कि संबंधित प्राधिकार इसकी जांच करेंगे। मालूम हो कि आम आदमी पार्टी से अलग हुए समूह आप वालंटियर एक्शन मंच (आवाम) ने अरविंद केजरीवाल पर संदेहास्पद कंपनियों से दो करोड़Þ रुपए हासिल करने का आरोप लगाया था।

आप ने हालांकि आरोपों को खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट की निगरानी वाले विशेष जांच दल से दिल्ली चुनाव में सभी तीन राजनीतिक दलों की फंडिंग की जांच कराने की मांग की है। जेटली ने कहा कि यह स्पष्ट है कि यह एक राजनीतिक दल की व्यवस्था में घुमा फिरा कर कालाधन हासिल करने का मामला है। अब अगर आप ऐसी किसी घटना में फंस जाते हैं, तब आप दूसरे राजनीतिक दलों पर आरोप लगाने और एजंडे को बदलने का प्रयास करने का आरोप लगाने की स्थिति में नहीं होते हैं।

सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में दिल्ली चुनाव में सभी तीन प्रमुख दलों की फंडिंग की जांच कराने की आप की मांग पर वित्त मंत्री ने कहा कि यह ध्यान बांटने का हथकंडा है। आप और उसका नेतृत्व इस मामले में रंगे हाथ पकड़ा गया है। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि जब भी इनका रिटर्न पेश किया जाएगा और तब तथ्य संज्ञान में आएगा और विधिक प्राधिकार अपना काम करेंगे।

बहरहाल, चंदा चेक के माध्यम से लेने की आप की दलील पर जेटली ने कहा कि बुनियादी सवाल यह है कि जब आप चेक के जरिए धन देते हैं, पार्टी को उसके बारे में जानना चाहिए कि उस कंपनी के हितों को कौन साध रहा है। उन्होंने कहा कि स्पष्ट है कि इन कंपनियों का इस्तेमाल हवाला के जरिए लेनदेन या ऐसी कंपनियों के जरिए किया गया जो उस धन को बदलते हैं और सफेद धन के रूप में दूसरों को लेखा प्रदान करते हैं। आप को जवाब देना चाहिए कि इन कंपनियों के पीछे कौन है और उनकी आय का स्रोत क्या है?

 

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पेट्रोल 2.42 रुपए, डीज़ल 2.25 रुपए प्रति लीटर सस्ता
2 RBI की क्रेडिट पॉलिसी का ऐलान, ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं
3 ‘आधार’ योजना के ख़िलाफ़ याचिका, सुप्रीम कोर्ट ने केन्द्र से मांगा जवाब
ये पढ़ा क्या?
X