ताज़ा खबर
 

आर्थिक वृद्धि बढ़ने के साथ आबादी में बीमा संरक्षण बढ़ाने में मिलेगी मदद: जेटली

एलआईसी की प्रशंसा करते हुए जेटली ने कहा पिछले 16 साल के दौरान प्रतिस्पर्धा का मुकाबला करने के बावजूद एलआईसी का 70 प्रतिशत बाजार पर कब्जा बना हुआ है।

Author मुंबई | Published on: September 1, 2016 9:26 PM
Arun Jaitley, NIIF, funding activity, Arun Jaitley NIIF, Arun Jaitley News, Arun Jaitley latest Newsकेंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली। (पीटीआई फाइल फोटो)

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार (1 सितंबर) को उम्मीद जताई कि आर्थिक वृद्धि तेज होने के साथ आने वाले वर्षों में भारत पूरीतरह बीमा संरक्षण और सामाजिक सुरक्षा वाला देश बन जाएगा। जेटली ने यहां देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी ‘भारतीय जीवन बीमा निगम – एलआईसी’ के हीरक जयंती समारोह का उद्घाटन करते हुए कहा, ‘अर्थव्यवस्था के तेजी से आगे बढ़ने के साथ मुझे उम्मीद है कि आने वाले कुछ सालों में हम पूरी तरह से बीमा और सुरक्षा कवर प्राप्त देश बन जाएंगे और मुझे पूरी उम्मीद है कि एलआईसी इसे हासिल करने में सबसे बड़ी भूमिका निभायेगी।’

ट्रेड यूनियनों द्वारा सरकार के श्रम सुधारों के खिलाफ शुक्रवार (2 सितंबर) को देशव्यापी हड़ताल के आह्वान पर टिप्पणी करते हुए जेटली ने इस बात पर अफसोस जताया कि चौतरफा विरोध को देखते हुए उन्हें भागीदारी वाले सामाजिक सुरक्षा नेट के बजट प्रस्ताव को वापस लेना पड़ा। उन्होंने इस बात को भी याद किया कि किस प्रकार ट्रेड यूनियनों ने सातवें वेतन आयोग के प्रस्तावों में भागीदारी वाले सामाजिक सुरक्षा कवर का विरोध किया। उन्होंने कहा, ‘लेकिन मुझे इस बात में कोई शंका नहीं है कि एक दिन हम सामाजिक सुरक्षा और बीमा मूल्य को समझेंगे। जल्द ही वह दिन आएगा जब हम पूरी तरह से सामाजिक रूप से सुरक्षा कवर प्राप्त राष्ट्र होंगे।’

जीवन बीमा क्षेत्र में लगातार शीर्ष पर बने रहने के लिए एलआईसी की प्रशंसा करते हुए जेटली ने कहा पिछले 16 साल के दौरान प्रतिस्पर्धा का मुकाबला करने के बावजूद एलआईसी का 70 प्रतिशत बाजार पर कब्जा बना हुआ है। जेटली ने कहा, ‘मुझे यह देखकर काफी खुशी है कि सरकार के बहुत कम संस्थान है जो प्रतिस्पर्धी माहौल होने के बावजूद समृद्ध हुयेए हैं और बाजार में लगातार शीर्ष स्थान पर बने हुए हैं। एलआईसी भी ऐसा ही संस्थान है जो कि पिछले कई वर्षों में अपने क्षेत्र में शीर्ष स्थान पर बना हुआ है।’

जेटली ने एलआईसी से कहा कि वह जीवन बीमा क्षेत्र में अपनी अग्रणी स्थिति बनाए रखने के लिए उसे उत्पाद प्रेषण में अधिक नवोन्मेषी बने रहना होगा। निगम को राष्ट्र निर्माण में भी अपनी भूमिका बनाए रखनी होगी ताकि वह अपने उस लक्ष्य को हासिल कर सके जिसके लिए 1956 में उसकी स्थापना की गई थी। राष्ट्र निर्माण में एलआईसी के योगदान को याद करते हुए जेटली ने कहा कि देश की आर्थिक वृद्धि में 4,00,000 लाख करोड़ रुपए के निवेश के साथ निगम सबसे बड़ा निवेशक है। निगम ने विभिन्न महत्वपूर्ण क्षेत्रों में यह निवेश किया है।

जेटली ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय में उनके साथी मंत्री गरीबों को एक लाख रुपए का स्वाथ्य बीमा कवर उपलब्ध कराने के लिए काम कर रहे हैं। देश की कुल आबाद में करीब एक तिहाई आबादी को इसका लाभ मिलेगा। एलआईसी के निर्वतमान चेयरमैन एस.के. रॉय ने इस मौके पर कंपनी की बचत में से सरकार को 2,502 करोड़ रुपए का चेक वित्त मंत्री को सौंपा। पिछले वर्ष निगम ने बचत में से सरकार को 1,803 करोड़ रुपए दिए थे। रॉय ने कहा कि हीरक जयंती के अवसर पर एलआईसी अपने पॉलिसी धारकों को एकबारगी विशेष बोनस भी देगा। यह बोनस सालाना मुनाफे में पॉलिसीधारकों को दिए जाने वाले हिस्से के अतिरिक्त होगा। वर्ष 2014-15 में एलआईसी ने अपने पॉलिसीधारकों को 34,283 करोड़ रुपए नियमित बोनस के रूप में दिए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 रघुराम राजन पर फिर बरसे स्वामी, 24 अरब डॉलर के विदेशी मुद्रा रिण को बताया ‘टाइम बम’
2 2 सितंबर को भारत बंद: कहां लगे रहेंगे ताले और कहां चलता रहेगा काम, जानिए
3 भारत बंद: ट्रेड यूनियनों की हड़ताल में शामिल होंगे बैंक कर्मचारी, ममता ने दी चेतावनी