ताज़ा खबर
 

अनिल अंबानी के आपदा में अवसर ढूंढ रहे निवेशक, रिलायंस कैपिटल में अचानक बढ़ी दिलचस्पी

रिलायंस कैपिटल लिमिटेड के अधीन आने वाली चार कंपनियों की संपत्ति बिकने वाली है।

अनिल अंबानी

कर्ज के बोझ में दबे अनिल अंबानी के कंपनियों की संपत्ति बिक्री की प्रक्रिया चल रही है। इस बुरे दौर में भी अनिल अंबानी की कंपनी में निवेशक दांव लगा रहे हैं। वहीं, शॉर्ट टर्म निवेश करने वालों को फायदा भी हो रहा है।

दरअसल, रिलायंस कैपिटल लिमिटेड के अधीन आने वाली चार कंपनियों की संपत्ति बिकने वाली है। इस बिक्री प्रक्रिया की वजह से शेयर बाजार में एक बार फिर रिलायंस कैपिटल लिमिटेड के शेयर को बूस्ट मिला है। बीते कुछ दिनों में रिलायंस कैपिटल के शेयर में लगातार अपर सर्किट लग रहा है। इसका मतलब ये हुआ कि नई उम्मीदों की वजह से निवेशक रिलायंस कैपिटल के शेयर में खरीदारी कर रहे हैं। एक हफ्ते में यह शेयर 10.45 रुपए से बढ़कर 12.68 रुपए पर पहुंच गया है।

बीएसई की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक अनिल अंबानी की रिलायंस कैपिटल का मार्केट कैप 320 करोड़ रुपए है। आपको बता दें कि रिलायंस कैपिटल अपनी सब्सिडरी रिलायंस जनरल इंश्यारेंस, रिलायंस निप्पन लाइफ इंश्योरेंस कंपनी, रिलायंस सिक्योरिटीज, रिलायंस फाइनेंशियल लिमिटेड और रिलायंस एसेट रिकंस्ट्रक्शन लिमिटेड की संपत्ति बिक्री करने वाली है। रिलायंस कैपिटल अनिल अंबानी के रिलायंस समूह की इकाई है।

रिलायंस कैपिटल की इन कंपनियों में पूरी या कुछ हिस्सेदारी बेचने के लिए बोली जमा करने की तारीख 17 दिसंबर कर दी गई है। इससे पहले, 1 दिसंबर तक बोलियां आमंत्रित की गई थीं। अब अनिल अंबानी की कंपनी में हिस्सेदारी खरीदने वालों को 17 दिसंबर तक बोली जमा करानी होगी।

Next Stories
1 25 हजार रुपये के डाउनपेमेंट में घर ले जाएं Honda की 5 सीटर कार, सेफ्टी के लिए मिला है 5 स्टार
2 मिलावटी शहद पर गंभीर हुई सरकार, पतंजलि-डाबर जैसी कंपनियों की बढ़ सकती है मुश्किलें
3 पांच साल में रजिस्टर्ड हुई अडानी एग्री की 21 कंपनियां, मई 2014 के आखिरी हफ्ते में 5 को मंजूरी
यह पढ़ा क्या?
X