ताज़ा खबर
 

कर्ज में डूबे अनिल अंबानी को मिले 4400 करोड़ रुपये, भाई मुकेश की Jio को संपत्ति बेचकर जुटाई रकम

रिलायंस इंफ्राटेल की संपत्तियां रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) की अनुषंगी Jio को बेचकर 4,400 करोड़ रुपये मिले हैं। इसी से देनदारों को भुगतान किया जाना है।

mukesh ambani, anil ambaniरिलायंस इंफ्राटेल की संपत्तियां, Jio को बेचकर 4,400 करोड़ रुपये मिले हैं। (Photo-indian express )

बीते साल मुकेश अंबानी की टेलीकॉम कंपनी रिलायंस जियो को अनिल अंबानी के रिलायंस इंफ्राटेल की संपत्ति के अधिग्रहण को मंजूरी मिली थी। इसकी मंजूरी राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (NCLT) ने दी थी।

अब इस अधिग्रहण से मिलने वाली रकम के जरिए रिलायंस इंफ्राटेल को बकाया चुकाना होगा। ये बकाया कई बैंकों का है। इनमें से एक दोहा बैंक ने प्राथमिकता के आधार पर बकाया चुकाने को कहा है। राष्ट्रीय कंपनी कानून न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) ने दोहा बैंक की उस याचिका को सही करार दिया है, जिसमें रिलायंस इंफ्राटेल के वित्तीय ऋणदाताओं को प्राथमिकता के आधार पर भुगतान किए जाने का आग्रह किया गया है। मामले से जुड़े एक सूत्र ने इसकी जानकारी दी।

रिलायंस इंफ्राटेल की संपत्तियां रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) की अनुषंगी Jio को बेचकर 4,400 करोड़ रुपये मिले हैं। इसी से देनदारों को भुगतान किया जाना है। ऋणदाताओं को इसमें से 3515 करोड़ रुपये प्राप्त हो सकते हैं।

किस बैंक को कितने मिलेंगे: सूत्र के अनुसार, भारतीय स्टेट बैंक को 728 करोड़ रुपये, महिमा मर्केंटाइल को 514 करोड़ रुपये, एससी लोवी को 511 करोड़ रुपये, वीटीबी कैपिटल पीएलसी को 511 करोड़ रुपये, दोहा बैंक को 409 करोड़ रुपये, एमिरेट्स एनबीडी को 322 करोड़ रुपये, आईसीबीसी को 278 करोड़ रुपये और स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक को 242 करोड़ रुपये मिलेंगे।

सूत्र ने कहा, ‘‘रिलायंस इंफ्राटेल को आरआईएल की अनुषंगी से इक्विटी और रोजमर्रा की जरूरत की पूंजी के लिए 455 करोड़ रुपये मिलेंगे। शेष राशि परिचालन लेनदारों, कर्मचारियों आदि के बीच वितरित की जायेगी।”

Next Stories
1 मोदी सरकार ने बदले बीमा से जुड़े नियम, पॉलिसीहोल्डर को मिलेगी बड़ी राहत
2 Mega e-auction: बेहद सस्ती कीमत में खरीदें घर या प्लॉट, 5 मार्च से SBI दे रहा बड़ा मौका
3 कोरोनिल विवाद के बीच रामदेव की कंपनी ने पकड़ी रफ्तार, फरवरी में हो गया इतना मुनाफा
ये पढ़ा क्या?
X