कर्ज देती थी अनिल अंबानी की ये दो कंपनियां, फिर कारोबार समेटने की आ गई नौबत

अनिल अंबानी ने कहा था कि कारोबार में बदलाव के हिस्से के रूप में, रिलायंस कैपिटल ने कर्ज देने के कारोबार से बाहर निकलने का फैसला किया है।

Anil Ambani, reliance group, mukesh ambani, dheeru bhai ambani, tina ambaniउद्योगपति अनिल अंबानी (फाइल फोटो)

कुछ साल से रिलायंस ग्रुप के मुखिया अनिल अंबानी कर्ज के बोझ तले दबे हैं। इस कर्ज को कम करने के लिए अनिल अंबानी की ओर से कोशिशें भी की जा रही हैं।

बीते कुछ साल से अनिल अंबानी की कई संपत्तियां ​या तो बिक चुकी हैं या फिर बिक्री की प्रक्रिया से गुजर रही हैं। इन्हीं में से दो कंपनियां रिलायंस कॉमर्शियल फाइनेंस और रिलायंस होम फाइनेंस हैं। रिलायंस कैपिटल के अधीन आने वाली ये दोनों कंपनियां कर्ज देती थीं। लेकिन हालात कुछ ऐसे बने कि इन दोनों कंपनियों के कर्ज देने के कारोबार को समेटना पड़ा। (ये पढ़ें-अडानी संभाल रहे हैं अंबानी का कारोबार)

साल 2019 में हुआ था ऐलान: अनिल अंबानी ने साल 2019 के सालाना आम बैठक में शेयरधारकों को इसकी जानकारी दी थी। उन्होंने कहा था कि कारोबार में बदलाव के हिस्से के रूप में, रिलायंस कैपिटल ने कर्ज देने के कारोबार से बाहर निकलने का फैसला किया है। तब इन दोनों कंपनियों की कुल संपत्ति 25 हजार करोड़ रुपये तक थी।

इस दौरान अनिल अंबानी ने आरोप लगाया था कि निहित स्वार्थों के लिए अफवाह फैलाने और अंधाधुंध बिकवाली ने शेयरधारकों को प्रभावित किया है। आपको बता दें कि बीएसई इंडेक्स में रिलायंस कॉमर्शियल फाइनेंस का ट्रेड सस्पेंड हो चुका है जबकि रिलायंस होम फाइनेंस शेयर बाजार में कारोबार कर रही है।

रिलायंस होम फाइनेंस का शेयर भाव काफी निचले स्तर पर आ चुका है। फिलहाल, 2.40 रुपये प्रति शेयर भाव है। वहीं, मार्केट कैपिटल की बात करें तो 116 करोड़ रुपये के स्तर पर है। रिलायंस कैपिटल की बात करें तो 0.70 फीसदी बढ़त के साथ 10 रुपये के स्तर पर कारोबार कर रहा है, मार्केट कैपिटल 253 करोड़ रुपये है।

कर्ज कम करने में जुटे अनिल अंबानी: आपको बता दें कि अनिल अंबानी कर्ज को कम करने में जुटे हैं। इसी के तहत अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस होम फाइनेंस की संपत्ति बिक्री की नौबत आ गई है। बीते साल दिसंबर में रिलायंस होम फाइनेंस के लिए पांच कंपनियों ने बोली जमा की थी। इसमें एसेट री-कंस्ट्रक्शन कंपनी इंडिया लिमिटेड (ARCIL) और ऑथम इन्वेस्टमेंट एंड इंफ्रा लिमिटेड जैसी दिग्गज कंपनियां शामिल थीं। हाल ही में रिलायंस ग्रुप की ही एक अन्य कंपनी रिलायंस इंफ्रा ने कई संपत्तियों की बिक्री की है।

Next Stories
1 अरबपति जैक मा पर चीन सरकार का जुर्माना, फिर भी दौलत में उछाल
2 ब्रिटेन की कंपनी का कलेवर बदलेंगे मुकेश अंबानी, 2019 में रिलायंस ने किया था अधिग्रहण
3 पतंजलि ही नहीं, इस कंपनी को भी संभाल रहे रामदेव के भाई, ​जानिए कितनी है सैलरी
यह पढ़ा क्या?
X