ताज़ा खबर
 

केयर रेटिंग्स को बड़ी राहत, अनिल अंबानी के कंपनी की रेटिंग में गड़बड़ी का है आरोप

यह मामला आरकॉम द्वारा फरवरी, 2017 और मार्च, 2017 में 375 रुपये की मूल राशि और 9.7 करोड़ रुपये के ब्याज के भुगतान में चूक से संबंधित है।

ये मामला अनिल अंबानी की कंपनी से जुड़ा है।

प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण (सैट) ने केयर रेटिंग्स को बड़ी राहत दी है। सैट ने केयर रेटिंग्स पर लगे 1 करोड़ रुपये के जुर्माने को घटाकर 10 लाख कर दिया है। ये मामला अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशंस (आरकॉम) से जुड़ा है।

क्या है मामला: यह मामला आरकॉम द्वारा फरवरी, 2017 और मार्च, 2017 में 375 रुपये की मूल राशि और 9.7 करोड़ रुपये के ब्याज के भुगतान में चूक से संबंधित है। इसके बाद मई, 2017 में केयर रेटिंग्स ने आरकॉम द्वारा जारी गैर-परिवर्तनीय डिबेंचरों (एनसीडी) की रेटिंग को घटाकर चूक की श्रेणी में कर दिया था। ये अनिल अंबानी के लिए किसी झटके से कम नहीं था।

इसके बाद ही सेबी 1 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया था। अब ताजा मामले में केयर रेटिंग्स पर भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) द्वारा लगाए गए एक करोड़ रुपये जुर्माने को घटाकर 10 लाख रुपये कर दिया है। हालांकि सैट ने केयर रेटिंग्स पर सेबी कानून और क्रेडिट रेटिंग एजेंसी (सीआरए) नियम के उल्लंघन को उचित ठहराया।

सैट ने आदेश में क्या कहा: सैट ने अपने आदेश में कहा, ‘‘यह समय पर कार्रवाई नहीं करने और जांच-परख में कमी से संबंधित मामला है। हालांकि, हमारा विचार है कि इस मामले में एक करोड़ रुपये का जुर्माना कुछ अधिक, सख्त और मनमाना है तथा यह उल्लंघन के अनुरूप नहीं है।’’ न्यायाधिकरण ने कहा कि यह मामला जांच-परख की कमी का है। ऐसा नहीं है कि इस मामले में रेटिंग को घटाया नहीं गया।

रेटिंग को कम किया गया, लेकिन यह समयबद्ध तरीके से नहीं हुआ। आपको बता दें कि सैट ने यह फैसला केयर रेटिंग्स की अपील पर सुनाया है। केयर रेटिंग्स ने सेबी के जुलाई, 2020 के एक करोड़ रुपये का जुर्माना लगाने के आदेश को सैट में चुनौती दी थी। (ये पढ़ें-मुकेश अंबानी से ज्यादा है इन दो भाइयों की सैलरी, रिलायंस में मिली है बड़ी जिम्मेदारी)

Next Stories
1 कोरोना काल में EPF का पैसा निकालने की है योजना तो इन बातों का रखें ध्यान
2 गौतम अडानी की दौलत करीब 5 बिलियन डॉलर डूबी, चीन के अरबपति ने फिर पछाड़ा
3 विरोध के बाद भी भारत के पाम तेल के आयात में बड़ी बढ़त, मई में इतना इजाफा
ये पढ़ा क्या?
X