ताज़ा खबर
 

अनिल अंबानी के सामने नई मुश्किल, यूं कम कर रहे कर्ज का बोझ

साल 2015 में HSBC बैंक के सैंकड़ों दस्तावेज लीक हुए थे। इन लीक दस्तावेजों में अनिल अंबानी समेत कई बड़े अमीरों का नाम था।

अनिल अंबानी (Photo-PTI )

रिलायंस ग्रुप के मुखिया अनिल अंबानी कर्ज के जाल से बाहर निकलने की जुगत में लगे हैं। इस बीच, स्विटजरलैंड की कोर्ट ने एक ऐसा फैसला सुनाया है, जिससे अनिल अंबानी की चर्चा एक बार फिर होने लगी है।

क्या है फैसला: मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक स्विटजरलैंड की कोर्ट ने अनिल अंबानी और उनके परिवार के स्विस बैंक अकाउंट की जानकारी भारत के साथ साझा करने का आदेश दिया है। ये आदेश स्विटजरलैंड की सरकार और स्विस बैंक को दिया गया है। इसके तहत स्विस बैंक खातों में अप्रैल 2011 से सितंबर 2018 तक हुए लेन-देन की जानकारी साझा की जाएगी। भारत ने अनिल अंबानी और उनके परिवार की जानकारी स्विटजरलैंड से मांगी थी लेकिन नहीं मिलने की स्थिति में मामला स्विट्जरलैंड की सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया था।

आपको बता दें​ कि अनिल अंबानी की कई कंपनियां कर्ज चुकाने से चूक गई हैं। इस वजह से डिफॉल्ट कैटेगरी में गिनती हो रही है। (ये पढ़ें-मुकेश अंबानी से ज्यादा है इन दो भाइयों की सैलरी, रिलायंस में मिली है बड़ी जिम्मेदारी)

साल 2015 का है मामला: आपको बता दें कि साल 2015 में HSBC बैंक के सैंकड़ों दस्तावेज लीक हुए थे। इन लीक दस्तावेजों में अनिल अंबानी समेत कई बड़े अमीरों का नाम था। रिपोर्ट में दावा किया गया कि अनिल अंबानी का बैंक अकाउंट स्विस बैंक में है। हालांकि, अनिल अंबानी ने ये बात सिरे से खारिज करते हुए बताया था कि कहीं भी अवैध खाता नहीं है।

कर्ज कम करने में जुटे अंबानी: बीते कुछ समय से अनिल अंबानी कर्ज कम करने में जुटे हैं। इसके लिए उन्होंने कई संपत्तियों की बिक्री की है। वहीं, अनिल अंबानी के रिलायंस समूह की कई कंपनियों में भी बिक्री की प्रक्रिया चल रही है। इनमें रिलायंस कैपिटल, रिलायंस होम फाइनेंस, रिलायंस कम्युनिकेशन, रिलायंस नवल एंड इंजीनियरिंग लिमिटेड भी शामिल हैं।

आपको बता दें कि हाल ही में रिलायंस कैपिटल ओर रिलायंस होम फाइनेंस के तिमाही नतीजे जारी हुए हैं। नतीजों से मालूम होता है कि कंपनी को घाटा हुआ है। हालांकि, इस दौरान रिलायंस पावर में बढ़त दर्ज की गई है। (ये पढ़ें-जब जेपी ग्रुप से अचानक टूट गई अनिल अंबानी के कंपनी की डील, बताई थी ये वजह)

Next Stories
1 अदार पूनावाला ने इस कंपनी में बेची अपनी पूरी हिस्सेदारी, 118 करोड़ का हुआ सौदा
2 PM-Kisan: लाभार्थी नहीं, फिर भी आपके बैंक अकाउंट में आए हैं 2000 रुपये, अब करना होगा ये काम
3 Jio के बाद अब Airtel की चांदी, जानिए नए ग्राहक जोड़ने के मामले में कौन रहा आगे
ये पढ़ा क्या?
X