पेटीएम के आईपीओ की लिस्टिंग के बाद आनंद महिंद्रा ने दी सलाह तो विजय शेखर बोले- इसपर कमेंट की जरूरत नहीं

पेटीएम का आईपीओ निवेश के लिए 10 नवंबर को बंद हुआ था। कंपनी ने आईपीओ के जरिए 18,300 करोड़ जुटाए हैं।

गुरुवार को शेयर बाजार में पेटीएम की लिस्टिंग होने के बाद कंपनी की अच्छी शुरुआत नहीं रही। (फोटो: पीटीआई)

गुरुवार को शेयर बाजार में देश की सबसे बड़ी डिजिटल पेमेंट कंपनी पेटीएम की पैरेंट कंपनी One 97 Communications की लिस्टिंग हो गई। बीएसई में कंपनी का शेयर 1955 पर लिस्ट हुआ और एनएसई में यह 1950 रुपए पर लिस्ट हुआ। पेटीएम के आईपीओ की लिस्टिंग होने के बाद जब मशहूर उद्योगपति आनंद महिंद्रा ने सलाह दी तो कंपनी के फाउंडर विजय शर्मा ने कहा कि इसपर कमेंट की जरूरत नहीं है।

पेटीएम को संचालित करने वाली कंपनी One97 Communications के शेयरों पर टिप्पणी करते हुए मशहूर उद्योगपति आनंद महिंद्रा ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मैं दिल से उन निवेशकों के साथ हूं जिन्होंने इसमें अपना पैसा लगाया है। लेकिन मुझे पूरा यकीन है कि पेटीएम के शेयर जल्द ही वापसी करेंगे। शेयर लिस्टिंग की धीमी शुरुआत एक सिल्वर लाइनिंग की तरह है। यह एक कैसीनो गेम की तरह है जिसमें कभी भी वास्तविक मूल्य बहाल हो सकता है।

आनंद महिंद्रा के इन बयानों पर समाचार चैनल एनडीटीवी से बात करते हुए पेटीएम के फाउंडर विजय शर्मा ने कहा कि कैसीनो की तुलना आईपीओ से किया जाना एक मेटाफर हो सकता है। मैं इसपर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता हूं। साथ ही विजय शेखर शर्मा ने कहा कि बाजार में हर तरह की कंपनियों का उन्माद देखने को मिल रहा है। हम उन कंपनियों में से किसी को भी नहीं जानते हैं और शायद उनके बारे में सुना भी नहीं है, फिर भी कई ने अपने आईपीओ और बाजार में शुरुआत में अभूतपूर्व परिणाम दिए हैं।

इसके अलावा विजय शेखर शर्मा ने कहा कि मैं समझता हूं कि शेयर बाजार अच्छी कंपनियों के लिए है जो बड़े पैमाने पर जनता के लिए धन लाते हैं। साथ ही उन्होंने पेटीएम को लेकर यह भी कहा कि हम यह नहीं कह सकते कि हम सिर्फ एक पेमेंट बिजनेस हैं। हमारे पास बिजनेस का एक मंच है जो कई अलग अलग चरणों में बंटा हुआ है। कुछ व्यापार नकद उत्पन्न करते हैं, कुछ लाभदायक होते हैं, जबकि कुछ निवेश के चरण में होते हैं। कुल मिलाकर यह एक ऐसी कंपनी बन जाती है जहां हम भविष्य में निवेश कर रहे हैं।

पेटीएम कंपनी ने IPO के जरिए 18,300 करोड़ रुपये जुटाए हैं। पेटीएम का आईपीओ निवेश के लिए 10 नवंबर को बंद हुआ था। कंपनी ने इस IPO के लिए प्राइस बैंड 2,080 से 2,150 रुपये प्रति शेयर रखा था। पेटीएम का आईपीओ देश का अब तक का सबसे बड़ा आईपीओ था। शेयर बाजार में लिस्ट होने के बाद पेटीएम भी नायका और जोमैटो जैसी स्टार्टअप कंपनियों में शामिल हो गई जो पहले से शेयर बाजार में लिस्ट हो चुकी हैं।

पढें व्यापार समाचार (Business News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट