ताज़ा खबर
 

चेन लगाकर पेड़ से बांधी स्कॉर्पियो, आनंद महिंद्रा ने किया मजेदार ट्वीट, कहा- मुझे आ रही है ऐसी फीलिंग

आनंद महिंद्रा अकसर महिंद्रा ग्रुप की कारों को लेकर लोगों के प्रयासों को सराहते रहे हैं। हाल ही में उन्होंने महिंद्रा स्कॉर्पियो की ही एक और तस्वीर साझा की थी, जिसमें गाड़ी को बहुमंजिला घर की छत पर रखा गया था।

anand mahindra tweetआनंद महिंद्रा ने शेयर की स्कॉर्पियो की तस्वीर

महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने चेन से बंधी स्कॉर्पियो कार की एक मजेदार तस्वीर ट्विटर पर पोस्ट की है और उतना ही अच्छा कैप्शन भी लिखा है। दरअसल आनंद महिंद्रा ने स्कॉर्पियो की जो तस्वीर साझा की है, उसमें गाड़ी को एक चेन के जरिए पेड़ से बांधा गया है। शायद इसका मकसद यह है कि कोई गाड़ी को चुरा न सके। इस पर आनंद महिंद्रा ने लिखा है, ‘यह कोई हाईटेक समाधान नहीं है, लेकिन यह गाड़ी के मालिक की अधिकार की भावना को दिखाता है। यदि मैं अपनी बात करूं तो यह तस्वीर मुझे लॉकडाउन जैसी फीलिंग देती है। इस वीकेंड मैं चेन तोड़ने का प्रयास करूंगा, लेकिन मास्क साथ रहेगा।’

आनंद महिंद्रा अकसर महिंद्रा ग्रुप की कारों को लेकर लोगों के प्रयासों को सराहते रहे हैं। हाल ही में उन्होंने महिंद्रा स्कॉर्पियो की ही एक और तस्वीर साझा की थी, जिसमें गाड़ी को बहुमंजिला घर की छत पर रखा गया था। दरअसल कार को उसके मालिक ने पानी की टंकी के तौर पर छत पर लगाया है। यही नहीं गुरुवार को महिंद्रा थार को लेकर भी उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि हम इसके उत्पादन को बढ़ाने की कोशिशों में जुटे हैं। बता दें कि महिंद्रा की नई लॉन्च थार की सिर्फ एक महीने में ही 20,000 से ज्यादा बुकिंग हो चुकी है। यही नहीं कार की डिलिवरी के लिए ग्राहकों को 7 महीने तक की वेटिंग करनी पड़ रही है।

सोशल मीडिया पर खासे ऐक्टिव रहने वाले आनंद महिंद्रा ने अमेरिकी चुनाव को लेकर भी पिछले दिनों टिप्पणी की थी, जो वायरल हुई थी। महिंद्रा ने एक ज्योतिषी की भविष्यवाणी वाला पत्र ट्वीट किया था, जिसमें अमेरिकी चुनाव में ‘श्री डोनाल्ड ट्रंप’ के जीतने का दावा किया गया था। आनंद महिंद्रा ने उस पत्र को लेकर कहा था कि यदि यह भविष्यवाणी सही साबित होती है तो ज्योतिषी काफी मशहूर हो जाएगा। यही नहीं उन्होंने अपने एक अन्य ट्वीट में अमेरिकी चुनाव प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए कहा था कि यह विभाजन को और गहरा करने वाली है।

भारत से तुलना करते हुए आनंद महिंद्रा ने लिखा था, ‘भारत में धर्म, जाति और नस्ल आदि को लेकर विभाजन स्पष्ट तौर पर दिखता है, लेकिन यहां चुनाव एकता स्थापित करता है। अमेरिका में हाल ही में ध्रुवीकरण और तीखा एवं स्पष्ट हुआ है। लेकिन उनका भ्रामक इलेक्टोरल सिस्टम विभाजन को और गहरा करने वाला है।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 नौकरियों में आरक्षण का दांव हरियाणा को पड़ेगा उल्टा? नए अवसरों की बजाय और बिगड़ सकते हैं हालात
2 WhatsApp Pay के जरिए पेमेंट करना मेसेज भेजने जितना ही आसान, समझें पूरा तरीका और नियम
3 Mahindra की कारों पर सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ा ऑफर, फेस्टिव सीजन में ला सकते हैं शानदार सवारी
यह पढ़ा क्या?
X