ताज़ा खबर
 

अमेजॉन ने निकाली 50,000 लोगों की मेगा भर्ती, कोरोना से आई मंदी के बीच कंपनी ने लिया बड़ा फैसला

ई-कॉमर्स कंपनी अमेजॉन ने भारत में 50,000 लोगों को भर्ती करने का फैसला लिया है। लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन डिलिवरी बढ़ने के चलते अमेजॉन ने ये 50,000 अस्थायी नौकरियां निकाली हैं।

amazon hiringअमेजॉन ने निकाली हैं 50,000 कंपनियां

कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते दुनिया भर में नौकरियों पर मंडरा रहे संकट के बीच ई-कॉमर्स कंपनी अमेजॉन ने भारत में 50,000 लोगों को भर्ती करने का फैसला लिया है। लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन डिलिवरी बढ़ने के चलते अमेजॉन ने ये 50,000 अस्थायी नौकरियां निकाली हैं। कंपनी ने शुक्रवार को कहा कि अमेजॉन पर बढ़े ऑर्डर्स की मांग को पूरा करने के लिए ये अस्थायी नौकरियां निकाली गई हैं। फुलफिलमेंट सेंटर्स से लेकर डिलिवरी नेटवर्क तक में ये नौकरियां निकली हैं। हाल ही में केंद्र सरकार की ओर से ई-कॉमर्स कंपनियों को गैर-जरूरी सामानों की भी डिलिवरी करने की भी अनुमति दी गई है। इसके बाद से ही ऑनलाइन ऑर्डर्स की भरमार देखने को मिल रही है।

अब रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन सभी डिलिवरी में की अनुमति दी गई है। सिर्फ कंटेनमेंट जोन्स में ही सेवाओं को रोका गया है। अमेजॉन के कस्टमर फुलफिलमेंट ऑपरेशंस के वाइस प्रेजिडेंट अखिल सक्सेना ने कहा, ‘अपने डिलिवरी नेटवर्क और फुलफिलमेंट सेंटर्स के लिए हमने 50,000 अस्थायी नौकरियां निकाली हैं। इससे लोगों को नौकरी का अवसर मिल सकेगा और हमारी ओर से सुरक्षित वर्किंग एन्वायरनमेंट मिलेगा।’ बता दें कि बड़े पैमाने पर मजदूरों के पलायन की वजह से रिटेल कंपनियों को अपने डिलिवरी नेटवर्क को बनाए रखने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है।

कर्मचारियों के बीच कोरोना संक्रमण के डर को लेकर अमेजॉन ने कहा कि उसकी ओर से कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए सभी जरूरी उपाय किए जाएंगे ताकि ग्राउंड पर काम कर रहे लोगों को किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। इसके तहत बीमारी के दौरान भी कर्मचारियों को सैलरी देना, सिक लीव में इजाफा करना और लोगों के तापमान की नियमित जांच करना शामिल है। काम के दौरान यह जरूरी होगा कि कर्मचारी सभी नियमों का पालन करें और मास्क पहने रहें।

टेक स्टार्टअप्स ने की बड़े पैमाने पर छंटनी: कोरोना के संकट के बीच एक तरफ अमेजॉन ने नौकरियां निकाली हैं तो दूसरी तरफ ऐसी भी बहुत सी कंपनियां हैं, जिन्होंने छंटनी की है। खासतौर पर भारत के टेक स्टार्टअप सेक्टर में बड़े पैमाने पर लोगों को छंटनी का शिकार होना पड़ा है। हाल ही में ओला ने 1,400 लोगों को नौकरी से निकाला है। वहीं जोमैटो ने 500 और Swiggy ने 1,100 कर्मचारियों की छंटनी की है।

क्‍लिक करें Corona Virus, COVID-19 और Lockdown से जुड़ी खबरों के लिए और जानें लॉकडाउन 4.0 की गाइडलाइंस

Next Stories
1 सैलरी में कटौती के बाद भी पहले की तरह कट सकता है टैक्स? बचना है तो रखें इन बातों का ध्यान
2 बीपीओ कंपनी टेलीपरफॉर्मेंस से हटाए गए 3,000 कर्मचारी, 3 महीने में IT सेक्टर में जा सकती हैं 1.5 लाख नौकरियां
3 मजदूरों को गुजारे के लिए जरूरी है पैसा, रघुराम राजन बोले- सिर्फ अनाज देने से नहीं मिलेगी मदद, पैकेज से नहीं होगा फायदा
ये पढ़ा क्या?
X