ताज़ा खबर
 

अक्षय तृतीया पर सोना? खरीदना नहीं रहा फायदे का सौदा, जानिए कैसे घटता गया रिटर्न

Akshaya Tritiya 2018 Gold price: 1998 की बात करें तो उस समय सोने का भाव 4,025 रुपए प्रति 10 ग्राम था। तब सोने में निवेश करने पर मिलने वाले रिटर्न्स 2 डिजिट में थे। उस समय सोने में निवेश करने पर 10.05 फीसदी सालाना तक रिटर्न्स मिल रहे थे।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

अक्षय तृतीया पर लोग सोना खरीदते हैं। लोग सोने में निवेश करना फायदेमंद मानते हैं, क्योंकि इसमें पैसा डूबने का रिस्क नहीं होता है। क्योंकि सोना जब आप खरीदते हैं तो वह आपके पास ही होता है उसे जब आप चाहें तब बेचकर उसके बदले पैसे ले सकते हैं और इसे बेचने के लिए ज्यादा मसक्कत भी नहीं करनी पड़ती है, लेकिन पिछले 20 साल में सोने से होने वाली कमाई में कमी आ रही है। मतलब सोने में अब उतने रिटर्न्स नहीं मिल रहे हैं जितने की पहले मिलते थे। अब सोना खरीदना फायदे का सौदा नहीं रहा है। क्योंकि अब जितने रिटर्न्स सोने पर मिल रहे हैं उतने तो बैंक अब सेविंग अकाउंट्स पर दे रहे हैं। दिल्ली में 16 अप्रैल 2018 को 24 कैरेट (99.9 फीसदी शुद्ध) सोने का भाव 32,000 रुपए के करीब है।

अब से 20 साल पहले मतलब अप्रैल 1998 की बात करें तो उस समय सोने का भाव 4,025 रुपए प्रति 10 ग्राम था। तब सोने में निवेश करने पर मिलने वाले रिटर्न्स 2 डिजिट में थे। उस समय सोने में निवेश करने पर 10.05 फीसदी सालाना तक रिटर्न्स मिल रहे थे। वहीं 15 साल पहले की बात करें तो लोगों को इसमें निवेश करने पर मिलने वाले रिटर्न्स में कमी आई। 15 साल पहले यह आंकड़ा दो डिजिट के रिटर्न से नीचे आ गया और 8.89 फीसदी सालाना पर आकर रुक गया। वहीं 10 साल पहले की बात करें तो यह रिटर्न बढ़ने के बजाए घटता ही चला गया। 10 साल पहले यह 5.82 फीसदी सालाना पर आ गया। यह 20 साल पहले मिलने वाले रिटर्न्स का करीब आधा रह गया। वहीं अब से 7 साल पहले की बात करें तो सोने पर मिलने वाला रिटर्न्स 3.45 फीसदी सालाना पर आ गया।

इसके बाद अब 5 साल पहले की बात करें तो यह रिटर्न्स 5 और 7 साल पहले पर एक जैसे ही रहे। इसमें कोई खास बदलाव नहीं हुआ। 5 साल पहले भी 3.46 फीसदी सालाना ही रहे। इसके बाद 3 साल पहले की बात करें तो इसमें थोड़ा बदलाव हुआ और इसमें 1 फीसदी से ज्यादा की बढ़ोतरी हुई। 3 साल पहले सोने पर मिलने वाले रिटर्न्स का आकड़ा 4.68 फीसदी सालाना पर आ गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App