ताज़ा खबर
 

कॉल और डाटा होगा महंगा? एयरटेल के सुनील मित्तल बोले, मौजूदा रेट पर नहीं टिक पाएगा टेलिकॉम सेक्टर

उन्होंने कहा कि मौजूदा टैरिफ पर बने रह पाना मुश्किल है। लेकिन एयरटेल पूरी इंडस्ट्री से अलग अपनी राह नहीं तय कर सकता। न्यूज एजेंसी पीटीआई को दिए इंटरव्यू में सुनील मित्तल ने कहा कि एक समय के बाद टैरिफ हाइक की जरूरत होती है।

Author Edited By सूर्य प्रकाश नई दिल्ली | Updated: November 22, 2020 4:51 PM
sunil mitttalसुनीत मित्तल

देश की दिग्गज टेलिकॉम कंपनी एयरटेल के मुखिया सुनील मित्तल का कहना है कि मौजूदा रेट पर बने रहना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि हमें बाजार की स्थितियों को देखते हुए टैरिफ हाइक की ओर बढ़ना चाहिए। यह पूछे जाने पर कि 5जी नेटवर्क में चीनी कंपनियों को एंट्री दी जानी चाहिए य़ा नहीं, सुनील मित्तल ने कहा कि यह बड़ा फैसला है और देश पर इस पर जो भी फैसला लेगा, उसे सभी की ओर से स्वीकार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जहां तक टैरिफ की बात है तो एयरटेल का काफी पहले से यह स्टैंड रहा है कि अब कीमतों में इजाफे का वक्त है।

उन्होंने कहा कि मौजूदा टैरिफ पर बने रह पाना मुश्किल है। लेकिन एयरटेल पूरी इंडस्ट्री से अलग अपनी राह नहीं तय कर सकता। न्यूज एजेंसी पीटीआई को दिए इंटरव्यू में सुनील मित्तल ने कहा कि एक समय के बाद टैरिफ हाइक की जरूरत होती है। बाजार की स्थितियों का आकलन करने के बाद हम इस पर विचार करेंगे। बता दें कि सुनील मित्तल ने अगस्त में भी कहा था कि एक महीने में 160 रुपये में 16 जीबी डाटा देना त्रासदी सरीखा है। सुनील मित्तल ने कहा था कि एवरेज रेवेन्यू प्रति यूजर 200 रुपये या फिर 300 तक बढ़ना चाहिए।

उन्होंने कहा था कि यह कीमत ही भविष्य में टेलिकॉम सेक्टर की मजबूती तय करने का काम करेगी। बता दें कि इस साल सितंबर तिमाही में एयरटेल का एवरेज रेवेन्यू पर यूजर 162 रुपये रहा है, जबकि जून में तो यह 157 रुपये ही था। टेलिकॉम सेक्टर में टैक्स की अधिकता को लेकर कई बार सवाल उठा चुके सुनील भारती मित्तल कहते हैं कि टेलिकॉम सेक्टर भारी पूंजी की लागत वाला क्षेत्र है। सुनील मित्तल ने कहा कि नेटवर्क, स्पेक्ट्रम, टावर और टेक्नोलॉजी समेत तमाम चीजों पर टेलिकॉम सेक्टर में बड़ा निवेश करना पड़ता है।

उन्होंने कहा कि रेट कुछ ऐसे होना चाहिए कि इंडस्ट्री स्थायी ग्रोथ हासिल कर सके। उन्होंने कहा कि पावर प्लांट, स्टील प्लांट या रिफाइनरीज की तरह ही टेलिकॉम सेक्टर भी लगातार निवेश की जरूरत होती है। सुनील मित्तल ने कहा कि यह ऐसा सेक्टर है, जिसमें आपको हर साल अरबों डॉलर की रकम नई तकनीक पर खर्च करनी होती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 PVC आधार कार्ड: एक ही व्यक्ति पूरे परिवार के लिए कर सकता है ऑनलाइन ऑर्डर, जानिए क्या है तरीका
2 पीएम नरेंद्र मोदी ने लॉन्च की ‘हर घर नल योजना’, यूपी के 3000 गांवों को मिलेगा फायदा, जानें- क्या है स्कीम
3 दुनिया के टॉप 10 अमीरों की लिस्ट से बाहर हुए मुकेश अंबानी, जानें- कैसे अचानक घटी रिलायंस के मुखिया की दौलत
ये पढ़ा क्या?
X