scorecardresearch

AIBEA Report : तेजी से बंद हो रहीं सरकारी बैंकों की शाखाएं, दूसरी तरफ प्राइवेट बैंक कर रहे विस्तार

AIBEA Report में कहा गया है कि देश के कुल 21 सरकारी बैंकों ने वित्त वर्ष 2022 में 181 लाख करोड़ रुपए का कारोबार किया है, जो कि वित्त वर्ष 2021 में 166 लाख करोड़ रुपए था।

Bank News | Banking Sector News| Jansatta
इस तस्वीर का प्रयोग केवल प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (Photo: Freepik)

वित्त वर्ष 2022 में देश में सरकारी बैंकों की शाखाओं के साथ-साथ कर्मचारियों की संख्या में बड़ी कमी देखने को मिली हैं, ये दावा देश की सबसे बड़ी बैंक कर्मचारी संघ ने किया है। ऑल इंडिया बैंक एम्प्लॉयज एसोसिएशन (AIBEA) का कहना है कि वित्त वर्ष 2022 में पिछले साल के मुकाबले सरकारी बैंक की 2,044 शाखाओं को बंद किया गया है। साथ ही कर्मचारियों की संख्या भी 13 हजार कम हुई है।

एआईबीईए का कहना है कि एक तरफ तो सरकारी बैंक की शाखाओं में लगातार कमी हो रही है। वहीं, दूसरी तरफ प्राइवेट बैंक की शाखाएं लगातार इजाफा रही है। एआईबीईए की ओर से दिए गए आंकड़ों के अनुसार, वित्त वर्ष 2022 में प्राइवेट बैंकों की 4023 शाखाएं बढ़ी हैं। अब देश में प्राइवेट बैंक की शाखाओं की संख्या बढ़कर 34,342 हो गई है जबकि इस अवधि के दौरान सरकारी बैंकों की शाखाओं की संख्या घटकर 86,221 पर आ गई है जो पिछले साल 88265 थी। इससे पहले वित्त वर्ष 2020 में यह आंकड़ा 90 हजार के पार था।

एआईबीईए ने बताया कि पिछले कुछ सालों से सरकारी बैंकों के कर्मचारियों की संख्या में लगातार गिरावट आ रही है। वित्त वर्ष 2021 में यह आंकड़ा 8,07,048 पर था, जो अब घटकर 7,94,040 पर आ गया है। आगे एआईबीईए कहा कि 2020 में सरकारी बैंकों का मर्जर करने के बाद से कई शाखाओं को समाप्त कर दिया गया है, जिसके कारण बड़ी संख्या में कर्मचारियों ने रिटायरमेंट भी लिया है।

एआईबीईए के महासचिव सीएच वेंकटचलम ने कहा कि सरकारी बैंकों के लिए वित्त वर्ष 2021 तक का समय एनपीए के कारण चुनौतीपूर्ण था, लेकिन अब समय बदल गया है।

सरकारी बैंकों का बढ़ा कारोबार: एआईबीईए की ओर से जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि देश के कुल 21 सरकारी बैंकों ने वित्त वर्ष 2022 में 181 लाख करोड़ रुपए का कारोबार किया है, जो कि वित्त वर्ष 2021 में 166 लाख करोड़ रुपए था। इस दौरान सरकारी बैंकों के शुद्ध मुनाफे में 100 फीसदी से अधिक का उछाल आया है और मुनाफा 331 अरब रुपए से बढ़कर 689 अरब रुपए पर पहुंच गया है।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X