GST विधेयक पर बोले जेटली, जितनी जल्दी पास होगा, राज्यों को उतना ही फायदा होगा

वित्त मंत्री अरूण जेटली ने राज्यसभा में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) विधेयक जल्दी पारित करने का आज आह्वान करते हुए कहा कि इससे राज्यों को सेवा कर में भी हिस्सेदारी मिल सकेगी।

Author नयी दिल्ली | Updated: July 19, 2016 6:26 PM
GST, gst bill, goods and services tax, monsoon session, Goods and Services Tax, GST, GST bill, gst news, gst 2015, gst india, Congress, narendra modi

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राज्यसभा में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) विधेयक जल्दी पारित करने का आह्वान करते हुए मंगलवार (19 जुलाई) को कहा कि इससे राज्यों को सेवा कर में भी हिस्सेदारी मिल सकेगी। 14वें वित्त आयोग की सिफारिशों के अनुसार सेवा कर में राज्यों को हिस्सेदारी नहीं मिलती है। जेटली ने राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान सवालों के जवाब में कहा कि 14वें वित्त आयोग के अनुसार सेवा कर राज्यों के साथ साझा नहीं किए जाते। उन्होंने कहा कि जितनी जल्दी आप जीएसटी पारित कर लेंगे, राज्यों के लिए उतना ही अच्छा होगा और उन्हें सेवा कर में हिस्सेदारी मिल सकेगी।

उन्होंने केंद्रीय करों में राज्यों की हिस्सेदारी बढाकर 50 प्रतिशत किए जाने के सवाल पर कहा कि 14वें वित्त आयोग की अवधि 2020 तक यह 42 प्रतिशत ही रहेगा। उन्होंने कहा कि 13वें वित्त आयोग में यह हिस्सेदारी 32 प्रतिशत थी। कुछ राज्यों को कम राशि मिलने की शिकायत पर जेटली ने कहा कि 13वें वित्त आयोग के आखिरी साल और 14वें वित्त आयोग के पहले साल की तुलना किए जाने से स्पष्ट होगा कि राज्यों को।,88,000 करोड़ रूपए अधिक मिले हैं। उन्होंने कहा कि 14वें वित्त आयोग के तहत हर राशि को पहले की अपेक्षा ज्यादा पैसे मिलने हैं।

उन्होंने कहा कि वित्त आयोग विभिन्न कारकों पर विचार कर राशि के बंटवारे के संबंध में सिफारिशें करता है। उन्होंने कहा कि वित्त आयोग हर राज्य में जाता है और उसकी बातें सुनता है। इस क्रम में वित्त आयोग राज्यों की जनसंख्या, भौगोलिक क्षेत्र, आय असमानता, जनसंख्या में परिवर्तन सहित विभिन्न विषयों पर विचार कर अपनी सिफारिशें देता है। उन्होंने इस बार पहली बार वन क्षेत्र :फारेस्ट कवर: को भी इसमें शामिल किया गया।

Next Stories
1 राज्यसभा में उठा नाबालिग कबड्डी खिलाड़ी से बलात्कार और हत्या का मुद्दा
2 Parliament Session: योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में सांसदों ने की वेतन, भत्ते बढ़ाने की मांग
3 kashmir violence: घाटी में अखबारों पर कार्रवाई को लेकर नायडू ने की महबूबा से बातचीत
ये पढ़ा क्या?
X