ताज़ा खबर
 

कोरोना वायरस ने पहले छीन लीं नौकरियां, अब महंगाई भी बरपा सकती है कहर: एसबीआई रिपोर्ट

Covid 19 impact on Indian Economy: कोरोना संकट के चलते आई आर्थिक मंदी से पहले ही लोग बेहाल हैं और इस मुसीबत में आने वाले समय में महंगाई और इजाफा कर सकती है। भारतीय स्टेट बैंक ने अपनी एक रिपोर्ट में यह आशंका जताई है।

inflationकोरोना के चलते महंगाई भड़कने की भी आशंका

कोरोना संकट के चलते आई आर्थिक मंदी से पहले ही लोग बेहाल हैं और इस मुसीबत में आने वाले समय में महंगाई और इजाफा कर सकती है। भारतीय स्टेट बैंक ने अपनी एक रिपोर्ट में यह आशंका जताई है। एसबीआई की एक रिपोर्ट के मुताबिक मजदूरों की कमी के कारण सप्लाई पर असर पड़ा है। इसके अलावा सरकार का राजकोषीय घाटा भी बढ़ा है। यही नहीं कई अन्य बाहरी कारणों के चलते देश में खुदरा महंगाई अगले कुछ महीनों में ऊंचे स्तर पर बनी रह सकती है।

एसबीआई की रिपोर्ट ‘इकोरैप’ में सांख्यिकी और कार्यक्रम कार्यान्वयन मंत्रालय को सुझाव दिया गया है कि खुदरा मुद्रास्फीति की गणना करते समय उत्पादों की ऑनलाइन कीमतों को भी ध्यान में रखा जाए। इसकी वजह यह है कि कोविड-19 महामारी के प्रकोप के बाद ज्यादातर लोग अपनी जरूरतों के लिए ऑनलाइन स्टोर पर भरोसा कर रहे हैं। रिपोर्ट में कहा गया कि एमओएसपीआई ने सेवाओं सहित अप्रासंगिक वस्तुओं को शामिल करते हुए खुदरा मुद्रास्फीति को कम करके आंका, और इस तथ्य को संज्ञान में नहीं लिया कि कोविड-19 महामारी और लॉकडाउन के कारण उनकी खपत बहुत कम हो गई है।

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) के आंकड़ों के अनुसार, जून में खुदरा महंगाई की दर 6.09 प्रतिशत थी। रिपोर्ट में कहा गया कि हमारे नए फॉर्म्युले के आधार पर एसबीआई की गणना में महंगाई के आंकड़े वास्तविक महंगाई के मुकाबले काफी ज्यादा है। रिपोर्ट में आगे कहा गया, ‘हमारी जून 2020 की मुद्रास्फीति 6.98 प्रतिशत है, जो एनएसओ के आंकड़ों से 0.9 प्रतिशत अधिक है। यदि एनएसओ ने ऑनलाइन कीमतों को ध्यान में रखा होता, सीपीआई मुद्रास्फीति पर 0.10 से 0.15 प्रतिशत तक असर पड़ता।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना की दवा के लिए बिल गेट्स को भारत से उम्मीद, कहा- पूरा दुनिया को कर सकता है वैक्सीन की सप्लाई
2 मुकेश अंबानी के साथ खड़े होकर किए बड़े-बड़े ऐलान, जानें- कौन है रिलायंस का यह गुमनाम चेहरा
3 इनकम टैक्स रिटर्न से आधार लिंक करना है जरूरी, जानें- कैसे बेहद आसानी से कर सकते हैं यह काम
ये पढ़ा क्या?
X