अडानी की इस कंपनी ने साल भर में दिया सबसे अधिक रिटर्न, 600 प्रतिशत से अधिक बढ़ा इंवेस्टर्स का पैसा

रिटर्न देने के मामले अडानी समूह और टाटा समूह अग्रिम कतार में हैं। अडानी की तीन कंपनियां टॉप फाइव में शामिल हैं, जबकि टाटा की दो कंपनियों ने 300 प्रतिशत से अधिक रिटर्न दिया है।

Adani Group Share
रिटर्न देने में अडानी और टाटा की कंपनियां अव्वल हैं। (PTI Photo)

भारतीय शेयर बाजार (Indian Share Market) लगातार नए रिकॉर्ड बना रहे हैं। साल भर में बीएसई का मुख्य इंडेक्स सेंसेक्स (BSE Sensex) करीब 50 फीसदी चढ़ चुका है। इस लहर पर सवार होकर कई कंपनियों के शेयर निवेशकों को जबरदस्त कमाई करा रहे हैं। एक साल के दौरान 169 कंपनियों ने निवेशकों को 100 प्रतिशत से अधिक रिटर्न दिया है। इनमें अडानी समूह (Adani Group) की अडानी टोटल गैस (Adani Total Gas) 600 प्रतिशत से अधिक रिटर्न देकर टॉप पर है। टाटा समूह (Tata Group) की दो कंपनियों ने भी 300 प्रतिशत से अधिक रिटर्न दिया है।

टॉप फाइव में अडानी की तीन कंपनियां

बीएसई के आंकड़ों के अनुसार, अडानी टोटल गैस ने पिछले दशहरा (25 अक्टूबर) से लेकर इस दशहरा (15 अक्टूबर) तक में 637.03 प्रतिशत रिटर्न दिया है। यह किसी भी अन्य कंपनी की तुलना में अधिक है। मजेदार है कि सबसे अधिक रिटर्न देने वाली टॉप फाइव कंपनियों में तीन अडानी समूह की हैं। बीते एक साल में अडानी समूह की अडानी ट्रांसमिशन (Adani Transmission) ने 475.67 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। इसी तरह अडानी एंटरप्राइजेज (Adani Enterprises) ने अपने इंवेस्टर्स को एक साल में 421.85 प्रतिशत अमीर किया है।

टाटा की दो कंपनियों ने दिए 300 प्रतिशत से अधिक रिटर्न

अन्य कंपनियों की बात करें तो जेएसडब्ल्यू एनर्जी (JSW Energy), बालाजी एमाइन्स (Balaji Amines), ट्राइडेंट (Trident), एचएफसीएल (HFCL), हैप्पिएस्ट माइंड्स टेक्नोलॉजीज (Happiest Minds Technologies), टाटा मोटर्स (Tata Motors), गुजरात फ्लूरोकेमिकल्स (Gujarat Fluorochemicals), आईआरसीटीसी (IRCTC), इंडियन एनर्जी एक्सचेंज (Indian Energy Exchange), टाटा पावर कंपनी (Tata Power Company) और दीपक नाइट्राइट (Deepak Nitrite) ने 300 से 520 प्रतिशत तक रिटर्न दिए हैं।

साल भर में 52.71 प्रतिशत चढ़ा सेंसेक्स

बीएसई सेंसेक्स 15 अक्टूबर को 0.94 प्रतिशत यानी 568.90 अंक चढ़कर 61,305.95 अंक पर बंद हुआ। पिछले दशहरा यानी 25 अक्टूबर 2020 को यह 40,145.45 अंक के स्तर पर था। इस तरह देखें तो साल भर में सेंसेक्स 52.71 प्रतिशत चढ़ गया है। इस दौरान बीएसई का मिडकैप (BSE MidCap) 14,710.65 अंक से 81.5 प्रतिशत बढ़कर 26,699.69 अंक पर पहुंच चुका है। स्मॉलकैप (BSE SmallCap) 15000.71 अंक 29,893.06 अंक पर पहुंच चुका है, जो 99.28 प्रतिशत की तेजी है।

इसे भी पढ़ें: टाटा की तीन कारों को मिली है फाइव स्टार सेफ्टी रेटिंग, पंच ने सबको छोड़ा पीछे

रिटर्न देने में सेंसेक्स से आगे हैं मिडकैप और स्मॉलकैप

इस तरह देखें तो लार्ज कैप (MCap) वाली कंपनियों से बेहतर रिटर्न छोटी कैप वाली कंपनियों ने दिए हैं। इंडेक्स के मामले में मिडकैप और स्मॉलकैप ने सेंसेक्स से करीब दो गुना रिटर्न दिया है।

पढें व्यापार समाचार (Business News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
7th Pay Commission: सरकार ने इनके लिए पेंशन में की भारी बढ़ोत्तरी, जानें कितना फायदाsamudrik shastra, money, moles meaning, lucky moles, body moles, astrology
अपडेट