ताज़ा खबर
 

अडाणी पावर ने अवांता का 600 मेगावाट क्षमता का संयंत्र खरीदा

अडाणी पावर ने चार महीने से भी कम समय में बिजली संयंत्र का एक और बड़ा सौदा करते हुए गौतम थापर के अवांता समूह की 600 मेगावाट क्षमता की कोरबा वेस्ट पावर इकाई खरीदने की आज घोषणा की। यह सौदा 4,200 करोड़ रुपए से कुछ अधिक कहा है। अडाणी समूह ने इससे पहले अगस्त में […]

Author November 24, 2014 5:40 PM
सीआइआइ के एक समारोह में बिजली व कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने ये बातें कही। (फाइल फ़ोटो)

अडाणी पावर ने चार महीने से भी कम समय में बिजली संयंत्र का एक और बड़ा सौदा करते हुए गौतम थापर के अवांता समूह की 600 मेगावाट क्षमता की कोरबा वेस्ट पावर इकाई खरीदने की आज घोषणा की। यह सौदा 4,200 करोड़ रुपए से कुछ अधिक कहा है।

अडाणी समूह ने इससे पहले अगस्त में ऋण में डूबे लैंको इन्फ्रा से उसका उडुपी संयंत्र खरीदा था। कोयले से चलने वाले 1,200 मेगावाट क्षमता के उडुपी संयंत्र का सौदा 6,000 करोड़ रुपए का था।

अडाणी समूह ने अहमदाबाद से जारी एक बयान में आज कहा कि कोरबा वेस्ट पावर का कोरबा में 600 मेगावाट का कोयले पर आधारित बिजली संयंत्र है। इसके विस्तार का काम चल रहा है।

इस सौदे से अडाणी पावर निजी क्षेत्र में देश की सबसे बड़ी बिजली कंपनी बन गयी है और इसकी स्थापित क्षमता 11,040 मेगावाट हो गयी है।
अडाणी ने हालांकि सौदे के आकार का खुलासा नहीं किया लेकिन अवांता समूह द्वारा नयी दिल्ली से जारी एक बयान में कहा गया कि यह सौदा 4,200 करोड़ रुपए से अधिक का है। अडाणी समूह ने 2020 तक अपनी बिजली उत्पादन क्षमता 20,000 मेगवाट तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा है।

इस सौदे के संबंध में अडाणी समूह के अध्यक्ष गौतम अडाणी ने कहा ‘‘यह बिजली क्षेत्र में पुनर्गठन का समय है और अडाणी पावर ऐसे बिजली संयंत्रों की खरीद में अव्वल है जो उनके समूह के कारोबार के लिए रणनीतिक तौर पर उपयुक्त दिखते हंै और जिनकी उत्पादन लगात संभावित रूप से कम है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App