scorecardresearch

Adani Port: गौतम अडानी को लगा बड़ा झटका, कंपनी के मुनाफे में आई 17 फीसदी की गिरावट

Adani Port: वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में कंपनी का कार्गो वॉल्यूम 91 मिलियन मीट्रिक टन के साथ सबसे उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है।

Adani Port: गौतम अडानी को लगा बड़ा झटका, कंपनी के मुनाफे में आई 17 फीसदी की गिरावट
Adani Group News: अडानी पोर्ट के मुनाफे में आई 17 फीसदी की गिरावट (फोटो: रॉयटर्स)

Adani Port News: एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति गौतम अडानी की कंपनी अडानी पोर्ट और स्पेशल इकोनॉमिक जोन लिमिटेड (APSEZL)  ने सोमवार को वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही के नतीजे पेश किए। कंपनी के कार्गो वॉल्यूम में रिकॉर्ड वृद्धि के वाबजूद सालाना आधार पर मुनाफा 16.86 फीसदी गिरकर 1,091 करोड़ पर पहुंच गया है। इससे पहले वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में कंपनी ने 1,312 करोड़ रुपए का मुनाफा दर्ज किया था।

इस वित्त वर्ष की जून तिमाही में कंपनी की आय मामूली बढ़त के साथ 5,099 करोड़ रुपए रही, जोकि पिछले वित्त वर्ष जून तिमाही में 5,073 करोड़ रुपए पर थी। जून तिमाही में कंपनी के खर्च 3,660 करोड़ रुपए से बढ़कर 4,174 करोड़ रुपए हो गया है।

कंपनी कार्गो वॉल्यूम में रिकॉर्ड इजाफा

वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में कंपनी का कार्गो वॉल्यूम 91 मिलियन मीट्रिक टन के साथ सबसे उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। ड्राई कार्गो की वॉल्यूम में 11.2 फीसदी, कंटेनर कार्गो की वॉल्यूम में 3.2 फीसदी और क्रूड को मिलाकर लिक्विड कार्गो की वॉल्यूम में 5.6 फीसदी का इजाफा हुआ है। वहीं, ऑटोमोबाइल के जुड़े कार्गो की वॉल्यूम में 120 का इजाफा हुआ है, हालांकि यह कुल कार्गो वॉल्यूम का काफी छोटा-सा हिस्सा है।  

बड़ी बात यह है कि कंपनी के मुंद्रा और गैर- मुंद्रा पोर्ट दोनों की वॉल्यूम ग्रोथ समान रही है। कंपनी ने यह भी बताया कि इस बार 53 फीसदी कार्गो वॉल्यूम गैर- मुंद्रा पोर्ट आया है।

इस मौके पर अडानी पोर्ट के सीईओ और डायरेक्टर करण अडानी ने कहा कि जून तिमाही अडानी पोर्ट के इतिहास में सबसे अच्छी तिमाही रही है। कंपनी ने कार्गो वॉल्यूम में रिकॉर्ड इजाफा हुआ है और EBITA भी सबसे अधिक आया है।

बता दें, हाल ही में अडानी पोर्ट ने इजरायली कंपनी गैडोट के साथ मिलकर (70:30) की साझेदारी में इजरायल के हाइफा पोर्ट की 100 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 1.13 बिलियन डॉलर की बोली जीती है। इसके साथ कंपनी ने ओशन स्पार्कल लिमिटेड में 100 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी है। ओशन स्पार्कल लिमिटेड की इस वित्त वर्ष में आय 633 करोड़ और EBITA 355 करोड़ रुपए रह सकता है।

पढें व्यापार (Business News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट