ताज़ा खबर
 

अडानी इंटरप्राइजेज का शेयर 25 सालों में हुआ 800 गुना, जानें- कैसे ‘इन्फ्रास्ट्रक्चर किंग’ बने गौतम अडानी

अडानी ने कहा, ‘अडानी एंटरप्राइजेज ने 1994 में अपना पहला आईपीओ (आरंभिक सार्वजनिक निर्गम) पेश किया था और उस समय कंपनी किए गए एक रुपये के निवेश पर अब 800 गुना रिटर्न है।’

gautam adaniअडानी ग्रुप के मुखिया गौतम अडानी

दिग्गज कारोबारी गौतम अडानी ने कहा है कि उनकी कंपनी में ढाई दशक पहले किया गया 1 रुपये का निवेश अब 800 के बराबर हो गया है। गौतम अडानी ने कहा कि ढाई दशक पहले अडानी इंटरप्राइजेज में किए गए निवेश पर अब रिटर्न 800 गुना हो चुका है। अडानी समूह के प्रमुख गौतम अडाणी ने सोमवार को यह बात कही। उन्होंने कहा कि इस दौरान उनका बुनियादी ढांचा समूह अब कई ‘मंचों का एकीकृत मंच’ बन चुका है। ‘जे.पी. मॉर्गन इंडिया शिखर सम्मेलन-भविष्य पर ध्यान’ को संबोधित करते हुए अडानी ने कहा कि उनकी कंपनी बंदरगाह से लेकर हवाईअड्डे और ऊर्जा वितरण तक के क्षेत्रों में काम करती है। समूह के इस मॉडल ने शेयर बाजार की प्रमुख छह कंपनियों को खड़ा किया। इसने हजारों लोगों को नौकरी दी और शेयरधारकों के लिए अभूतपूर्व मूल्य का निर्माण किया।

अडानी ने कहा, ‘अडानी एंटरप्राइजेज ने 1994 में अपना पहला आईपीओ (आरंभिक सार्वजनिक निर्गम) पेश किया था और उस समय कंपनी किए गए एक रुपये के निवेश पर अब 800 गुना रिटर्न है।’ कॉलेज की पढ़ाई बीच में ही छोड़ देने वाले 58 वर्षीय अडानी ने जिंसों के व्यापार से अपना कारोबार शुरू किया था। अब अडानी समूह देश की सबसे बड़ी बंदरगाह प्रबंधन कंपनी है। साथ ही देश की सबसे बड़ी हवाईअड्डा परिचालक कंपनी बनने की ओर अग्रसर है। कंपनी गैस वितरण, नवीकरणीय ऊर्जा, खनन, रक्षा और कृषि जिंसों में भी कारोबार करती है।

बता दें कि हाल ही में गौतम अडानी के ग्रुप ने मुंबई एयरपोर्ट में भी 74 फीसदी की हिस्सेदारी हासिल की है। इसके साथ ही गौतम अडानी ‘इन्फ्रास्ट्रक्चर किंग’ बनकर उभरे हैं। उनके कारोबार पर नजर डालें तो एयरपोर्ट, पोर्ट से लेकर बिजली उत्पादन जैसे इन्फ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में उनका बड़ा कारोबार है। इन्फ्रास्ट्रक्चर से जुड़े बिजनेस में वह वैश्विक स्तर पर बड़े खिलाड़ी हैं।

अडानी समूह देश के 11 बंदरगाहों का संचालन करता है, जबकि मुंबई एयरपोर्ट समेत देश के 6 बड़े हवाई अड्डों का ठेका भी उसके पास है। यही नहीं अडानी लॉजिस्टिक्स कंपनी के जरिए कार्गो बिजनेस में भी गौतम अडानी का बड़ा दखल है। पावर सेक्टर की ही बात करें तो कंपनी जनरेशन, ट्रांसमिशन से लेकर डिस्ट्रिब्यूशन तक के बिजनेस में शामिल है।

Next Stories
1 अनिल अंबानी ही नहीं इन कारोबारियों के लिए भी कर्ज बना जंजाल, जानें- कैसे गर्दिश में आए सितारे
2 भारत पेट्रोलियम के निजीकरण का कंपनी के चेयरमैन ने किया समर्थन, कहा- पेशेवर होगी कंपनी और बढ़ेगा निवेश
3 भारत में क्यों नहीं दौड़ पाईं हार्ले डेविडसन की बाइक्स, जानें- क्या रहे बिजनेस समेटने के अहम कारण
आज का राशिफल
X