7th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों को होली गिफ्ट, एडवांस में मिलेंगे 10 हजार रुपये

Special Festival Advance Scheme के तहत कर्मचारियों को 10 हजार रुपये मिलेंगे। कहने का मतलब ये है कि केंद्र सरकार के कर्मचारी होली को मनाने के लिए एडवांस में 10,000 रुपये ले सकते हैं।

7th Pay Commission latest news, Holi gift, 7th Pay Commission latest news, 7th Pay
दफ्तर में काम करते कर्मचारी।

7th Pay Commission latest news: होली का त्योहार आने वाला है। इस त्योहार पर केंद्रीय कर्मचारियों को एक बड़ा गिफ्ट मिलने वाला है।

कोरोना की वजह से भले ही होली का रंग फीका है लेकिन इस माहौल में भी केंद्रीय कर्मचारियों के लिए खुशखबरी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक होली को देखते हुए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार स्पेशल फेस्टिवल एडवांस स्कीम (Special Festival Advance Scheme) लेकर आई है। इस स्कीम के तहत कर्मचारियों को 10 हजार रुपये मिलेंगे। कहने का मतलब ये है कि केंद्र सरकार के कर्मचारी होली को मनाने के लिए एडवांस में 10,000 रुपये ले सकते हैं।

किस्त में देने का विकल्प: इस 10 हजार रुपये की रकम को कर्मचारी 10 आसान किस्तों में वापस कर सकते हैं। कहने का मतलब ये है कि हर महीने 1,000 रुपये की मासिक किस्त के जरिए आप इस रकम को चुका सकते हैं। इस पर कोई ब्याज नहीं लिया जाएगा। इस स्कीम का फायदा उठाने के लिए 31 मार्च आखिरी तारीख है। आपको बता दें कि कर्मचारियों को 7वें वेतन आयोग की सिफारिश के आधार पर ये सुविधा मिल रही है। इससे पहले छठे वेतन आयोग में 4500 रुपये मिलते थे।

बता दें कि केंद्र सरकार कर्मचारियों के रुके हुए महंगाई भत्ते (डीए) को नए वित्त वर्ष में जारी करने वाली है। बीते दिनों वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने संसद में बताया था कि कर्मियों और पेंशनर्स के लिए डीए की तीन बकाया किस्त जुलाई 2021 से जारी किया जाएगा।

महंगाई भत्ता और महंगाई राहत के कारण सरकार पर प्रतिवर्ष 12,510.04 करोड़ रुपये का वित्तीय बोझ पड़ेगा और वित्त वर्ष 2020-21 में कुल 14,595.04 करोड़ रुपये इस मद में खर्च होंगे।

बता दें कि बीते साल के मार्च महीने में केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने महंगाई भत्ता और पेंशनभोगियों के लिए महंगाई राहत की रकम बढ़ा दी थी। इसके तहत डीए की रकम मूल वेतन/पेंशन की वर्तमान दर 17 प्रतिशत में 4 प्रतिशत बढ़ाकर कर दी गई थी।

मतलब ये कि डीए की रकम 21 फीसदी कर दी गई। इसे 1 जनवरी, 2020 से प्रभावी किया गया था। हालांकि, इसके बाद कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से बढ़ी हुई रकम को रोक दिया गया। बीते दिनों अनुराग ठाकुर ने बताया था कि सरकार ने डीए के रोके गए फंड का इस्तेमाल कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में किया है।

पढें व्यापार समाचार (Business News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट