ताज़ा खबर
 

7th Pay Commission: इस राज्य में सरकारी कर्मचारियों का सैलरी कट 6 महीने के लिए और बढ़ा, उम्मीदों पर फिरा पानी

सरकार को यह सिफारिश पूर्व चीफ सेक्रेटरी के.एम. अब्राहम और सेंटर फॉर डिवेलपमेंट स्टडीज के निदेशक सुनील मानी की अध्यक्षता में गठित कमिटियों ने की थी। यह रकम कर्मचारियों के पीएफ अकाउंट में 1 अप्रैल, 2021 को डाली जाएगी।

salary cut

7th Pay Commission 7th CPC latest news today 2020: कोरोना संकट के चलते बीते 5 महीनों से सैलरी कट का सामना कर रहे केरल के सरकारी कर्मचारियों को अब 6 महीने और ऐसी ही स्थिति से गुजरना होगा। केरल सरकार ने राज्य के कर्मचारियों के सैलरी कट को 6 महीने के लिए और बढ़ाने का फैसला लिया है। पिनराई विजयन सरकार का यह निर्णय सितंबर से लागू होगा। हालांकि अब हर महीने 5 दिन का सैलरी कट होगा। इससे पहले अप्रैल से सितंबर महीने के दौरान हर माह 6 दिन का सैलरी कट हुआ था। राज्य सरकार के इस फैसले पर हाई कोर्ट की ओर से रोक लगा दी गई थी, लेकिन फिर पिनराई विजयन सरकार ने अध्यादेश लागू कर इस सैलरी कट को लागू किया था।

इसके साथ ही राज्य सरकार ने कर्मचारियों को थोड़ी राहत देते हुए अप्रैल से सितंबर तक काटी गई सैलरी को उनके पीएफ अकाउंट में जमा करने का फैसला लिया है। सरकार को यह सिफारिश पूर्व चीफ सेक्रेटरी के.एम. अब्राहम और सेंटर फॉर डिवेलपमेंट स्टडीज के निदेशक सुनील मानी की अध्यक्षता में गठित कमिटियों ने की थी। यह रकम कर्मचारियों के पीएफ अकाउंट में 1 अप्रैल, 2021 को डाली जाएगी। बता दें कि केरल में सरकारी कर्मचारियों और अध्यापकों की सैलरी में कटौती की जा रही है।

अप्रैल से सितंबर तक की सैलरी कट से पिनराई विजयन सरकार को 2,500 करोड़ रुपये की बचत हुई है। सरकार का कहना है कि कोरोना काल में उसे पास फंड की कमी है और कैश के संकट से निपटने के लिए यह फैसला जरूरी है। बता दें कि बीते 5 महीनों से सैलरी कट का सामना कर रहे कर्मचारियों को सितंबर से पूरी सैलरी मिलने की उम्मीद थी। लेकिन अब इस फैसले ने उनकी पूरी सैलरी के इंतजार को मार्च, 2021 तक के लिए बढ़ा दिया है।

गौरतलब है कि कोरोना संकट से निपटने के लिए लागू लॉकडाउन के बाद ही केंद्र सरकार ने अपने कर्मचारियों के जनवरी से बढ़े हुए डीए पर रोक लगा दी थी। यही नहीं जून, 2021 तक इजाफे पर भी रोक है। इसके बाद यूपी, मध्य प्रदेश, तमिलनाडु समेत कई राज्यों ने डीए में इजाफे पर रोक का फैसला लिया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पूर्व कर्मचारी के सम्मान में रतन टाटा ने रखा था टाटा मोटर्स की इस कार का नाम, जमकर बिकी थी गाड़ी
2 कभी-कभी पतंजलि के खेतों का काम संभालते हैं बाबा रामदेव के पिता, परिवार के कई सदस्यों का कंपनी से नाता
3 कॉन्ट्रैक्ट वर्कर्स पर कंपनियों को फ्रीहैंड देने की तैयारी में केंद्र सरकार, कितनी भी बार बढ़ाया जा सकता है करार
यह पढ़ा क्या?
X