7th Pay Commission News: कर्मचारियों को मिलने वाला है तोहफा, जानिए सरकार पर कितना पड़ेगा बोझ

7th Pay Commission latest news, 7th Pay Commission news: सरकार कर्मचारियों के रुके हुए महंगाई भत्ते (डीए) को नए वित्त वर्ष में जारी करने वाली है।

7th Pay Commission latest news, 7th Pay Commission news
प्रतिवर्ष 12,510.04 करोड़ रुपये का वित्तीय बोझ पड़ेगा (Photo-indian express )

7th CPC Latest News, 7th Pay Commission Update: नए वित्त वर्ष में केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को बड़ा तोहफा मिलने वाला है।

दरअसल, सरकार कर्मचारियों के रुके हुए महंगाई भत्ते (डीए) को नए वित्त वर्ष में जारी करने वाली है। बीते दिनों वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने संसद में बताया था कि कर्मियों और पेंशनर्स के लिए डीए की तीन बकाया किस्त जुलाई 2021 से जारी किया जाएगा। लेकिन क्या आपको पता है कि इस बकाये पैसे को जारी करने की वजह से सरकार पर कितने रकम का बोझ पड़ेगा। आइए इसका हिसाब समझ लेते हैं

कितने रुपये का पड़ेगा बोझ: बीते साल सरकार ने बताया था कि महंगाई भत्ता और महंगाई राहत के कारण सरकार पर प्रतिवर्ष 12,510.04 करोड़ रुपये का वित्तीय बोझ पड़ेगा और वित्त वर्ष 2020-21 में कुल 14,595.04 करोड़ रुपये इस मद में खर्च होंगे। (जनवरी, 2020 से फरवरी, 2021 तक के 14 महीनों की अवधि के लिए) इससे 48.34 लाख केन्द्र सरकार के कर्मचारियों और 65.26 लाख पेंशनभोगियों को लाभ मिलेगा।

7th Pay Commission: इन पदों पर काम करने वालों को मिलेगी 1.67 लाख रुपए महीने तक सैलरी, नोटिफिकेशन जारी

क्यों बकाया है पैसा: दरअसल, बीते साल के मार्च महीने में केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने केन्द्र सरकार के कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ता और पेंशनभोगियों के लिए महंगाई राहत की रकम बढ़ा दी थी। इसके तहत डीए की रकम मूल वेतन/पेंशन की वर्तमान दर 17 प्रतिशत में 4 प्रतिशत बढ़ाकर कर दी गई थी।

मतलब ये कि डीए की रकम 21 फीसदी कर दी गई। इसे 1 जनवरी, 2020 से प्रभावी किया गया था। हालांकि, इसके बाद कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से बढ़ी हुई रकम को रोक दिया गया। बीते दिनों अनुराग ठाकुर ने बताया था कि सरकार ने डीए के रोके गए फंड का इस्तेमाल कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में किया है।

बहरहाल, अब सरकार ने एक बार फिर इस रोकी गई किस्त को जारी करने का फैसला लिया है। आपको बता दें कि डीए की यह वृद्धि स्वीकृत नियमों के अनुरूप है, जो 7वें केन्द्रीय वेतन आयोग की अनुशंसाओं पर आधारित है।

हाल ही में सरकार ने फैमिली पेंशन लिमिट को भी बदल दिया था। इसकी लिमिट 45 हजार रुपये से बढ़ाकर 1.25 लाख रुपये कर दिया है। पेंशन और पेंशनभागी कल्याण विभाग ने मृत सरकारी कर्मचारियों के बच्चे/भाई-बहन की पेंशन को लेकर नए निर्देश जारी किए हैं।

पढें व्यापार समाचार (Business News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट
X