ताज़ा खबर
 

निजी कंपनी कर्मी भी चाहते हैं केंद्रीय कर्मियों की तरह वेतन बढ़ोतरी

केंद्रीय कर्मचारियों के लिऐ सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें आने के बाद निजी क्षेत्र के कर्मचारियों में असंतोष बढ़ रहा है।
Author नई दिल्ली | December 12, 2015 02:22 am

केंद्रीय कर्मचारियों के लिऐ सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें आने के बाद निजी क्षेत्र के कर्मचारियों में असंतोष बढ़ रहा है। इन सिफारिशों के बाद कंपनियों के मालिक कर्मचारियों के कार्य प्रदर्शन और काम के प्रति उनकी अनिच्छा महसूस कर रहे हैं। एक अध्ययन में यह निष्कर्ष सामने आया है।
टाइम्स जॉब डॉट कॉम के सर्वेक्षण के अनुसार केंद्रीय कर्मचारियों को 23.55 फीसद वेतन वृद्धि का उपहार मिलने के बाद निजी क्षेत्र के 70 फीसद से अधिक कर्मचारियों ने निजी क्षेत्र में नौकरी पर निराशा जताई है। टाइम्स जॉब डॉट कॉम के मुख्य परिचालन अधिकारी विवेक मधुकर ने कहा कि केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में अंधाधुंध वृद्धि से निजी क्षेत्र के कर्मचारियों में पैदा निराशा के भाव को साफ महसूस किया जा सकता है। उद्योग जगत मालिकों को कर्मचारियों के इस असंतोष का खमियाजा उनके कार्य प्रदर्शन और प्रेरणा में कमी के रूप में भुगतना पड़ सकता है।
सर्वेक्षण में 68 फीसद का मानना है कि सरकारी कर्मचारियों के वेतन में प्रस्तावित वृद्धि अनुचित है। 47 फीसद का मानना है कि वेतन वृद्धि का कर्मचारियों के कामकाज से कोई मेल नहीं है जबकि 30 फीसद महसूस करते हैं कि इस भारी वृद्धि के बाद सार्वजनिक व निजी क्षेत्र के कर्मचारियों की आय में असमानता और बढ़ जाएगी। निजी क्षेत्र में नई-नई नौकरी पाने वाले 80 फीसद ने कहा है कि निजी क्षेत्र में नौकरी पाकर वह निराश हैं। 75 फीसद मध्यम और वरिष्ठ स्तर के कर्मचारियों ने भी इसी तरह की धारणा व्यक्त की है।
इसके साथ ही अध्ययन में भाग लेने वाले सभी लोगों ने कहा है कि निजी क्षेत्र की कंपनियों को भी केंद्र सरकार की ही तरह न्यूनतम वेतन बढ़ाना चाहिए। निजी क्षेत्र के कर्मचारियों ने यह भी माना कि निजी क्षेत्र में उन्हें आगे बढ़ने की अधिक गुंजाइश मिलती है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. A
    Amit
    Sep 18, 2017 at 1:28 am
    If the company giving me an increment 6000rs for next three years or you can say that the company set 6000rs for next three years but the company divided this ry 2000 rs per year and now my ry is 17000rs after getting 2000 rs increment . May you please tell me an answer for this kind of problem
    (0)(0)
    Reply