ताज़ा खबर
 

केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते के कैलकुलेशन का क्या है तरीका, किसे कितना फायदा, जानें डिटेल में

केंद्र सरकार के कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में साल में दो बार, जनवरी और जुलाई, डीए में इजाफा होता है। वहीं, राज्य सरकारों के कर्मचारियों की बात करें तो उनका डीए सालाना तौर पर जुलाई के महीने में बढ़ता है।

dearness allowance7th Pay Commission: जानें, कर्मचारियों के डीए का कैसे होता है कैलकुलेशन

केंद्र सरकार समेत देश के कई राज्यों ने अपने कर्मचारियों के डीए (Dearness Allowance) में इजाफे पर रोक लगा दी है। यह रोक जुलाई 2021 तक के लिए लगाई गई है। कोरोना संकट से निपटने के लिए फंड जुटाने के मकसद से केंद्र सरकार ने यह अहम फैसला लिया है। आम लोगों के बीच डीए को महंगाई भत्ते के नाम से जाना जाता है। केंद्र सरकार के कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में साल में दो बार, जनवरी और जुलाई, डीए में इजाफा होता है। वहीं, राज्य सरकारों के कर्मचारियों की बात करें तो उनका डीए सालाना तौर पर जुलाई के महीने में बढ़ता है। फिलहाल केंद्रीय कर्मचारियों को 17 फीसदी डीए मिलता है। हालांकि डीए का कैलकुलेशन कैसे होता है, इसके बारे में बहुत कम लोगों को ही जानकारी है। आइए जानते हैं, क्या है डीए के कैलकुलेशन का तरीका…

क्या होता है महंगाई भत्ता: महंगाई के प्रभाव को देखते हुए सरकारी कर्मचारियों, पेंशनरों आदि की कॉस्ट ऑफ लिविंग आकलन किया जाता है। उसके मुताबिक उनके महंगाई भत्ते में इजाफा होता है। कर्मचारियों की बेसिक सैलरी के आधार पर महंगाई भत्ते की गणना की जाती है। इसे आसान भाषा में समझें तो डीए भी वेतन का हिस्सा ही होता है, जो बेसिक सैलरी का कुछ प्रतिशत हिस्से के बराबर होता है।

जानें, कैसे होता है DA का कैलकुलेशन: बेसिक सैलरी के एक निश्चित हिस्से के तौर पर डीए को कैलकुलेट किया जाता है और फिर उसे वेतन में ही HRA जैसे अन्य भत्तों की तरह जोड़ दिया जाता है। अब इसके कैलकुलेशन के तरीके की बात की जाए तो यह भी अलग-अलग प्रतिष्ठानों के लिए अलग है। केंद्र सरकार के कर्मचारियों के लिए डीए का कैलकुलेशन ऐसे होता है-

महंगाई भत्ता प्रतिशत= (बीते 12 महीनों के उपभोक्ता मूल्य सूचकांक का औसत (Base Year 2001=100)-115.76)/115.76)*100

अब यदि पीएसयू यानी पब्लिक सेक्टर यूनिट्स में काम करने वाले लोगों के महंगाई भत्ते की बात की जाए तो इसके कैलकुलेशन का तरीका यह है-

महंगाई भत्ता प्रतिशत= (बीते 3 महीनों के उपभोक्ता मूल्य सूचकांक का औसत (Base Year 2001=100)-126.33)/126.33)*100

पेंशनरों के DA पर कैसे होता है फैसला: वेतन आयोग की ओर से जब भी सैलरी स्ट्रक्चर को रिवाइज किया जाता है तो उसके साथ ही सेवानिवृत्त कर्मचारियों के डीए में भी बदलाव हो जाता है। इसी तरह जब डीए में इजाफा होता है तो फिर उसी दर के मुताबिक पेंशनरों के डीए में भी बढ़ोतरी की जाती है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबाजानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिएइन तरीकों से संक्रमण से बचाएंक्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ओला और उबर ने देश के कई शहरों में शुरू की कैब सर्विस, गाजियाबाद और गुड़गांव में भी लगीं दौड़ने, जानें- आपके शहर में छूट है या नहीं
2 ईरान ने अपनी मुद्रा से 4 जीरो हटाने का लिया फैसला, नाम भी बदलेगा, जानें- इस निर्णय से होगा क्या असर
3 पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को मिलने चाहिए 24,000 रुपये, भारतीय किसान यूनियन ने की मांग
  यह पढ़ा क्या?
X