ताज़ा खबर
 

7th Pay Commission: नरेंद्र मोदी सरकार से इन्हें मिलेगा एडवांस दिवाली गिफ्ट, 5000 रुपए बढ़कर आएगी सैलरी

7th Pay Commission, 7th CPC Latest News Today 2019, 7th Pay Commission Latest Hindi News: सरकारी बैंकों की ही तरह सार्वजनिक क्षेत्र की ईकाइयों/उपक्रमों (पीएसयू) के कर्मचारियों के का डीए तिमाही बढ़ता है।

पीएम नरेंद्र मोदी और श्रम और रोजगार मंत्री संतोष गंगवार। (फाइल फोटो)

7th Pay Commission, 7th CPC Latest News Today 2019, 7th Pay Commission Latest Hindi News: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार की ओर से स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया (Steel Authority of India : SAIL) के कर्मचारियों को दीपावली से पहले ही खुशखबरी मिल सकती है। दरअसल, सेल के शीर्ष प्रबंधन ने हाल ही में अपने अफसर स्तर के कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ते (डीए) में पांच फीसदी बढ़ोतरी की सिफारिश की है। सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम ने इस बाबत श्रम और रोजगार मंत्री संतोष गंगवार को पत्र लिखा है।

जानकारों का इस बारे में कहना है कि अगर सेल प्रबंधन की यह सिफारिश कबूल ली गई, तब उसके हर अफसर ग्रेड के कर्मी को सैलरी में पांच हजार रुपए प्रतिमाह की बढ़ोतरी मिलेगी।

सूत्रों के हवाले से मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया- सेल ने एक अक्टूबर 2019 से अपने अफसर ग्रेड के कर्मियों के वेतन में बढ़ोतरी की सिफारिश की है। मोदी सरकार सेल प्रबंधन की मांगें मान लेगी, तब सेल अफसरों के डीए में 57.4 प्रतिशत से 62.4 फीसदी का इजाफा हो जाएगा।

सरकारी बैंकों की ही तरह सार्वजनिक क्षेत्र की ईकाइयों/उपक्रमों (पीएसयू) के कर्मचारियों के का डीए तिमाही बढ़ता है। पीएसयू के नाते SAIL को इससे राहत नहीं मिलती है और उसके कर्मचारी हर तिमाही पर डीए में बढ़ोतरी पाने के योग्य हैं। आमतौर पर डीए Consumer Price Index (CPI) को ध्यान में रखकर बढ़ाया जाता है।

उधर, केंद्रीय कर्मचारियों को भी खुशखबरी मिल सकती है। कहा जा रहा है कि मोदी सरकार बुधवार या फिर गुरुवार को इन कर्मियों के डीए में बढ़ोतरी से जुड़ा ऐलान कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक, कैबिनेट की बैठक में केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में डीए बढ़ोतरी के अलावा जम्मू-कश्मीर समेत कई अन्य मुद्दे भी शामिल है। एक्सपर्ट्स की मानें तो पांच फीसदी इजाफे पर इन कर्मचारियों की सैलरी में 900 से 12500 रुपए तक की वृद्धि होगी और यह चीज कर्मचारियों के लेवल/ग्रेड पर निर्भर करेगी।

Next Stories
1 अर्थव्यवस्था के लिए अगले दो महीने हैं संकटपूर्ण, जानिए क्यों?
2 फर्स्ट दे इरेज्ड ऑर नेम: रोहिंग्या मुसलमानों पर हुए अत्याचारों को बेपर्दा करने आ रही यह किताब!
3 दुनिया भर में गंभीर मंदी की आहट! ऑस्ट्रेलियाई अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर एक दशक के सबसे निचले स्तर पर
ये पढ़ा क्या?
X