ताज़ा खबर
 

7th Pay Commission: बढ़ेगी सैलरी! सरकारी कर्मचारियों को इसलिए है उम्मीद

7th Pay Commission, 7th CPC Today Latest News: भारत अब दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन चुका है, ये जगह भारत ने फ्रांस को सातवें स्थान पर पीछे करके हासिल की है। इससे कर्मचारियों को सैलरी और आधिक बढ़ने की उम्मीद बढ़ी है।

7th Pay Commission, 7th CPC Today Latest News: भारत की आबादी इस वक्त करीब 134 करोड़ है। भारत बहुत जल्दी ही दुनिया का सबसे ज्यादा आबादी वाला देश बन जाएगा। जबकि फ्रांस की आबादी सिर्फ 6 करोड़ 70 लाख है।

7th Pay Commission, 7th CPC Today Latest News: केंद्र सरकार के कर्मचारियों को उनकी सैलरी बढ़ने का बेसब्री से इंतजार है। केंद्र सरकार के कर्मचारी चाहते हैं कि उनकी सैलरी को सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों से भी ज्यादा बढ़ाया जाए। सैलरी कितनी बढ़ाई जाए इसके बारे में कर्मचारी अपनी बात रख चुके हैं। केंद्रीय कर्मचारियों की मांग है कि उनकी न्यूनतम सैलरी को बढ़ाकर 26,000 रुपए महीने कर दिया है। वहीं फिटमेंट फेक्टर को भी बढ़ाकर 3.68 गुना बढ़ा दिया जाए। जबकि सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के मुताबिक केंद्रीय कर्मचारियों की न्यूनतम सैलरी 18,000 रुपए महीने कर दी गई है। वहीं फिटमेंट फेक्टर को भी 2.57 गुना बढ़ा दिया गया है।

भारत की अर्थव्यवस्था में सुधार हो रहा है। इससे भी कर्मचारियों को सैलरी और आधिक बढ़ने की उम्मीद बढ़ी है। भारत अब दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन चुका है, ये जगह भारत ने फ्रांस को सातवें स्थान पर पीछे करके हासिल की है, ये दावा विश्व बैंक के साल 2017 में जारी किए गए आंकड़ों के अध्ययन से पता चला है। पिछले साल के अंत में भारत का सकल घरेलू उत्पाद यानी की जीडीपी 2.597 खरब डॉलर था। जबकि फ्रांस की जीडीपी 2.582 खरब डॉलर थी।

इसके अलावा सरकार ने किसानों को भी तोहफा दे दिया है। सरकार ने फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) में बढ़ोतरी कर दी है। इससे भी सरकारी कर्मचारियों की उम्मीद बढ़ी हैं। इसके अलावा मोदी सरकार ने सैनिकों के लिए 10,000 रुपए सालाना कपड़ों के भत्ते को मंजूरी दे दी है। यह भत्ता उनके दूसरे सभी भत्तों से अलग दिया जाएगा। इससे भी कर्मचारियों में सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों से परे सैलरी बढ़ने की उम्मीद जगी है।

भारत की आबादी इस वक्त करीब 134 करोड़ है। भारत बहुत जल्दी ही दुनिया का सबसे ज्यादा आबादी वाला देश बन जाएगा। जबकि फ्रांस की आबादी सिर्फ 6 करोड़ 70 लाख है। विश्व बैंक के आंकड़ों की मानें तो इसका अर्थ ​है कि भारत की प्रति व्यक्ति आय फ्रांस की प्रति व्यक्ति आय की तुलना में करीब 20 गुना कम है।

घरेलू शेयर बाजारों में लगातार दूसरे सप्ताह तेजी दर्ज की गई, जिसमें ब्ल्यू-चिप्स कंपनियों के शेयरों में तेजी का प्रमुख योगदान रहा। कच्चे तेल की कीमतों में नरमी और वैश्विक शेयर बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों के कारण सेंसेक्स रिकार्ड उच्च स्तर पर और निफ्टी अपने सर्वाधिक उच्च स्तर के करीब पहुंच गया। साप्ताहिक आधार पर सेंसेक्स 883.77 अंकों या 2.48 फीसदी की तेजी के साथ 36,541.63 पर बंद हुआ। वहीं, निफ्टी 246.25 अंकों या 2.29 फीसदी की तेजी के साथ 11,018.90 पर बंद हुआ।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App