ताज़ा खबर
 

सिर्फ सुनने में अच्छा लगता तीन महीने किस्त न भरने की छूट का ऐलान, दो महीने भी न भरी तो लोन में बढ़ जाएंगे 10 महीने, जानिए कैसे

जानकारों के मुताबिक यदि आप दो महीने की ईएमआई होल्ड करते हैं तो भविष्य में 6 से 10 महीने कर्ज बढ़ सकता है या फिर ईएमआई की राशि में 1.5 फीसदी तक का इजाफा हो सकता है।

जानें, ईएमआई रोकने से कितना फायदा और क्या नुकसान

3 Months moratorium on EMI: भारतीय रिजर्व बैंक के ऐलान के बाद बैंकों की ओर से तीन महीने के लिए ईएमआई रोकने का विकल्प ग्राहकों को दिया जाने लगा है। यह ऑफर लुभावना भले लगता है, लेकिन फायदेमंद नहीं है। जानकारों की मानें तो यदि आप 2 महीने के लिए ईएमआई होल्ड करते हैं तो आपकी लोन की अवधि 10 महीने बढ़ जाएगी। लॉकडाउन के चलते ऐसे लोग इस ऑफर विचार कर रहे हैं, जिनकी कमाई प्रभावित हुई है, लेकिन ऐसे ग्राहकों को यह छूट नहीं लेनी चाहिए, जो मौके पर किस्त भरने में सक्षम हैं। जानकारों के मुताबिक बैंकों की ओर से सिर्फ होम लोन, पर्सनल लोन समेत तमाम कर्जों की ईएमआई को होल्ड किया जाएगा, लेकिन ब्याज पहले की तरह ही जारी रहेगा।

जानकारों के मुताबिक यदि आप दो महीने की ईएमआई होल्ड करते हैं तो भविष्य में 6 से 10 महीने कर्ज बढ़ सकता है या फिर ईएमआई की राशि में 1.5 फीसदी तक का इजाफा हो सकता है। कर्जधारकों को बैंकों की ओर से तीन विकल्प दिए जा सकते हैं। पहला विकल्प यह कि अप्रैल और मई में बकाया ब्याज को वह एक साथ जून में अदा कर दें। दूसरा विकल्प यह कि बचे हुए ब्याज को लोन राशि में ही जोड़ दी जाए और भविष्य के लिए बीच हुई ईएमआई में इजाफा कर दिया जाए। तीसरा विकल्प यह कि ईएमआई में कोई बदलाव न किया जाए, लेकिन लोन की अवधि को बढ़ा दिया जाए। ऐसा किया जाता है तो आप की लोन की अवधि से 6 से 10 महीने तक बढ़ सकती है।

ईएमआई के महीने कितने बढ़ेंगे, यह इस बात पर तय करेगा कि आखिर लोन कितनी अवधि का और कितनी राशि का लिया गया है। मान लीजिए कि किसी कस्टमर ने 50 लाख रुपये का कर्ज 20 सालों के लिए 9 फीसदी की ब्याज पर लिया है तो ईएमआई 44986 रुपये बनती है। यदि वह अप्रैल और महीने में ईएमआई को मिस करता है तो 19 साल के लोन पर 10 महीने बढ़ जाएंगे, जबकि 15 साल के लोन पर छह महीने बढ़ेंगे।

यही नहीं इस बीच कई बैंकों की ओर से ईएमआई होल्ड करने की सुविधा देना शुरू किया जा चुका है। आइए जानते हैं किस बैंक की किस्तों रोकने के लिए ग्राहकों को क्या करना होगा…

– कैनरा बैंक: आपको ईएमआई चुकाने में छूट मांग करने पर ही मिलेगी। इसके लिए आपको ‘NO’ लिखकर मेसेज भेजना होगा।

– IDFC फर्स्ट बैंक: इस बैंक की ओर से भी ग्राहकों की मांग पर ही यह सुविधा दी जाएगी। इसके लिए आपको ईमेल भेजना होगा।

– PNB: यदि आपने पंजाब नेशनल बैंक से लोन ले रखा है तो फिर आपको खुद ही यह राहत मिलेगी, लेकिन आप किस्त चुकाना चाहते हैं तो बैंक की शाखा पर जाना होगा।

– भारतीय स्टेट बैंक भी खुद रहा है छूट: यदि आप अपनी ओर से किस्तें अदा करना चाहते हैं तो नजदीकी बैंक शाखा पर जाकर बताएं।

– HDFC बैंक: यदि आप अपनी किस्तें होल्ड कराना चाहते हैं तो फिर ईमेल लिखकर मांग करनी होगी।

– ICICI बैंक: अभी इस स्कीम पर विचार चल रहा है। बैंक के सूत्रों के मुताबिक कुछ कर्जों पर ही सुविधा मिलेगी, वह भी ग्राहकों की मांग पर।

– IDBI बैंक: ग्राहकों की किस्तें खुद ही होल्ड हो जाएंगी। हालांकि यदि वह अदा करना चाहते हैं तो उन्हें ईमेल भेजना होगा या फिर साइट पर विजिट करना होगा।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 लॉकडाउन से पहले का स्टॉक हुआ खत्म, कुछ दिनों में जरूरी चीजों की हो सकती है किल्लत अब माल की कमी, लेबर भी कर गई पलायन
2 सुकन्या समृद्धि योजना, पीपीएफ समेत सभी बचत योजनाओं के ब्याज में बड़ी कटौती, जानें- किस पर कितनी चली कैंची