ताज़ा खबर
 

100 रुपये के नए वार्निश नोटों को मिली सरकार की मंजूरी, जल्दी नहीं होंगे खराब, अभी 5 केंद्रों पर होंगे जारी

100 Rupees new varnish notes: वार्निश लगे नोटों की आयु लंबी होगी और ये जल्दी खराब नहीं होगे। हालांकि इससे नोटों को तैयार करने की लागत में इजाफा हो जाएगा। वार्निश का अर्थ नोट पर एक और लेयर चढ़ाए जाने से है, जो एक तरह प्लास्टिक कोटिंग होती है।

100 rupee new note100 रुपये के नए वार्निश नोटों को सरकार की मंजूरी

100 Rupees new varnish notes: भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से 100 रुपये के कड़क नोटों को लाने के प्लान को केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है। शुरुआत में इन नोटों को 5 केंद्रों में प्रयोग के तौर पर जारी किया जाएगा। वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने 100 रुपये के नोटों को लेकर राज्यसभा में पूछे गए एक सवाल के जवाब में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सरकार ने आरबीआई की ओर से शिमला, जयपुर, भुवनेश्वर, मैसूर और कोच्चि में प्रायोगिक परीक्षण आधार पर 100 रुपये मूल्य के एक अरब वार्निश लगे बैंक नोटों की शुरूआत करने को मंजूरी दी है।

वार्निश लगे नोटों की आयु लंबी होगी और ये जल्दी खराब नहीं होगे। हालांकि इससे नोटों को तैयार करने की लागत में इजाफा हो जाएगा। वार्निश का अर्थ नोट पर एक और लेयर चढ़ाए जाने से है, जो एक तरह प्लास्टिक कोटिंग होती है। इससे नोट पर पानी पड़ने का असर नहीं होता। दुनिया भर के कई देशों में ऐसे नोटों का इस्तेमाल किया जाता रहा है, लेकिन भारत में अपने आप में यह पहला प्रयोग है।

नोटों को बदलने में आता है मोटा खर्च: बता दें कि नोटों के कटने, फटने और गलने की स्थिति में बैंकों को अकसर उन्हें बदलना पड़ता है। इस पर आरबीआई को काफी पैसा खर्च करना पड़ता है। ऐसे में आरबीआई ने टिकाऊ नोटों का प्लान तैयार किया है ताकि आम लेनदेन में नोटों को कोई नुकसान न हो और वे लंबे समय तक चल सकें।

अब तीन तरह के हो जाएंगे 100 के नोट: गौरतलब है कि मार्केट में अब भी दो तरह के 100 रुपये के नोट चल रहे हैं। एक नोट वह है, जो पहले से चला आ रहा है और दूसरा नया नोट वह है, जिसे नोटबंदी के बाद जारी किया गया है। इस तरह वार्निश किए हुए नोटों के प्रचलन में आने के बाद कुल 3 तरह के 100 रुपये के नोट हो जाएंगे। 100 रुपये के नोटों को ट्रांजेक्शन के लिए बेहद अहम माना जाता है। हालांकि बीते कुछ महीनों में एटीएम से 100 रुपये निकलने कम हो गए हैं क्योंकि दो तरह के नोटों के चलते मशीनों में कैसेट की सेटिंग में समस्या आ रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Corona Virus का हेल्थ इंश्योरेंस के तहत इलाज हो सकता है या नहीं? जानें- क्या है एक्सपर्ट्स की राय
2 Provident Fund अकाउंट देखने के लिए जरूरी है UAN का एक्टिवेशन, जानें- क्या है प्रक्रिया और कैसे कर सकते हैं EPFO की वेबसाइट पर लॉग इन
3 किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना है बेहद आसान, जानिए- कैसे आप कर सकते हैं ऑनलाइन आवेदन
ये पढ़ा क्या?
X