ताज़ा खबर
 

देश के 18 राज्यों के 1.8 करोड़ मजदूरों को सरकारों ने भेजे 1,000 से 5,000 तक रुपये, जानें- दिल्ली, पंजाब से तेलंगाना तक किस राज्य ने दी कितनी मदद

हिमाचल प्रदेश की बात करें तो वहां मजदूरों के खातों में सरकार ने 2,000 रुपये डाले हैं। वहीं ओडिशा में पंजीकृत मजदूरों के अकाउंट्स में 1,500 रुपये की रकम भेजी है।

labourखेती में काम करने वाले बहुत सारे मजदूर एक से दूसरे प्रदेशों में आवाजाही करते हैं। म

केंद्र सरकार की एडवाइजरी के मुताबिक देश के 18 राज्यों की सरकारों ने 1.8 करोड़ मजदूरों के बैंक खातों में 1,000 से 5,000 रुपये तक की राशि ट्रांसफर की है। कोरोना संकट के चलते 21 दिनों के लॉकडाउन से प्रभावित मजदूरों को राहत पहुंचाने के लिए सरकारों की ओर से यह राहत दी गई है। मजदूरों को सेस फंड में जमा राशि के जरिए यह मदद पहुंचाई गई है। सूत्रों के मुताबिक इन राज्यों की ओर से 2.250 करोड़ रुपये की रकम वन टाइम ट्रांसफर के तहत भेजी गई है। ट्रेड यूनियनों के सूत्रों ने बताया कि दिल्ली सरकार ने कंस्ट्रक्शन सेक्टर के मजदूरों के खाते में 5,000 रुपये की राशि भेजी है। इसके अलावा पंजाब और केरल में सरकारों ने मजदूरों को 3,000 रुपये की सहायता राशि भेजी है।

इसके अलावा हिमाचल प्रदेश की बात करें तो वहां मजदूरों के खातों में सरकार ने 2,000 रुपये डाले हैं। वहीं ओडिशा में पंजीकृत मजदूरों के अकाउंट्स में 1,500 रुपये की रकम भेजी है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश और बिहार समेत कई राज्यों ने एक से तीन महीने तक के लिए मजदूरों को अलग-अलग मात्रा में मुफ्त राशन देने का ऐलान किया है। लेबर मिनिस्ट्री के मुताबिक तमाम राज्यों के पास कंस्ट्रक्शन वर्कर्स वेलफेयर फंड में 31,000 करोड़ रुपये की रकम पड़ी है, जो खर्च नहीं हुई है। बिल्डिंग ऐंड अदर कंस्ट्रक्शन वर्कर्स वेलफेयर सेस एक्ट, 1996 के तहत 10 लाख रुपये से अधिक के किसी निर्माण पर एक फीसदी सेस जमा करना होता है। इसके अलावा कुछ अन्य राज्यों में यह सेस 2 फीसदी तक जमा करना होता है।

यह सेस किसी भी सरकारी एवं निजी सेक्टर से निर्माण पर वसूला जाता है। बता दें कि केंद्र सरकार ने 24 मार्च को सभी राज्यों को एडवाइजरी जारी कर कहा था कि वे सेस फंड में जमा रकम के जरिए मजदूरों को मदद करें। आदेश जारी होने के बाद से अब तक कम से कम 18 राज्यों की ओर से कम से कम 1,000 रुपये की रकम ट्रांसफर की जा चुकी है। तेलंगाना सरकार ने सभी किसानों के खाते में 500 रुपये की रकम ट्रांसफर की है और 12 किलो चावल दिया है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: जानें-कोरोना वायरस से जुड़ी हर खबर । जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस? । इन वेबसाइट और ऐप्स से पाएं कोरोना वायरस के सटीक आंकड़ों की जानकारी, दुनिया और भारत के हर राज्य की मिलेगी डिटेल ।  कोरोना संक्रमण के बीच सुर्खियों में आए तबलीगी जमात और मरकज की कैसे हुई शुरुआत, जान‍िए

Next Stories
1 पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत करोड़ों किसानों को मिल रही 2,000 रुपये की किस्त, पश्चिम बंगाल के किसानों के हाथ खाली
2 तीन महीने के लिए किस्तें न चुकाने की ऑटोमेटिक राहत दे रहे ICICI, AXIS समेत ये बैंक, जानें- किन बैंकों से कैसे मिल सकती है सुविधा
3 निष्क्रिय पड़े हैं जन धन योजना के हजारों खाते, बैंक शाखाओं से बैरंग लौट रहे लोग, जानें- कैसे ऐक्टिव होगा खाता
ये पढ़ा क्या?
X