ताज़ा खबर
 

वीडियो: एक मिनट के अंदर दो बार खराब हुई संसद की माइक, सारे सांसदों ने उतारे हेडफोन, बोलते रहे प्रणब मुखर्जी

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी आज यानी मंगलवार (31 जनवरी) को संसद पहुंचे।

Pranab Mukherjee, President Pranab Mukherjee, Union Budget 2017राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी। PTI Photo by Vijay Verma

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी आज यानी मंगलवार (31 जनवरी) को संसद पहुंचे। वहां वह बजट सत्र की शुरुआत में अपना भाषण देने पहुंचे थे। वहां राष्ट्रपति ने लगभग 11 मिनट तक भाषण दिया। लेकिन प्रणब के भाषण के दौरान उनका माइक दो बार खराब हुआ। उस माइक के बंद होने से पूरा संसद भवन अजीब सी अवाज से गूंज उठा। इससे सांसदों को काफी परेशानी हुई। दरअसल, सभी सांसदों ने प्रणब का भाषण सुनने के लिए कानों में हेडफोन लगाए हुए थे जिसकी मदद से उनतक साफ आवाज पहुंच रही थी। लेकिन वह अजीब सी आवाज जैसे ही बर्दाश्त से बाहर हुई सबने हेडफोन उतारकर साइड में रख दिए। हालांकि, प्रणब मुखर्जी इस दौरान रुके नहीं। वे लगातार बोलते रहे।

इससे पहले भी संसद से जुड़ी एक खबर आई थी। 20 जनवरी को पता लगा था कि बजट सत्र की तैयारियों के दौरान संसद सचिवालय में अंधेरा छा दया था। इसके अलावा वहां एक कर्मचारी लिफ्ट में भी फंस गया था। जनवरी में संसद सचिवालय में काम के दौरान लाइट की भारी समस्या थी। कई बार पॉवर कट होने की भी बात सामने आई थी। 19 जनवरी को शाम पांच बजे के बाद एक वक्त ऐसा आया था जब पूरे सचिवालय में अंधेरा छा गया था। उस वक्त आपातकाल वाली लाइटों के अलावा सिर्फ सीसीटीवी कैमरे ही चल रहे थे। इसके अलावा काम कर रहा एक बुजुर्ग कर्मचारी लाइट जाने की वजह से लिफ्ट में ही फंस गया था। उसे 15 मिनट बाद निकाला जा सका था।

इस बार बजट हर बार के तय वक्त से एक महीने पहले लाया जा रहा है। 1 फरवरी को बजट पेश होगा। पीएम मोदी ने इसपर कहा था कि उनकी सरकार एक साथ दो नई परंपरा चला रही है। उनका जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि इस बार बजट तय वक्त से पहले लाया जा रहा और दूसरा यह कि इस बार रेल बजट को आम बजट में मिलाकर पेश किया जाएगा।

देखिए वीडियो – (वह हिस्सा देखने के लिए जंम करके 4.14 पर जाएं)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Budget 2017: पीएम मोदी ने शुरु की नई परंपरा, जानिए क्यों इस खास है इस बार का बजट सत्र
2 नारीशक्ति को देश की विकास यात्रा का अभिन्न अंग बना रही है मेरी सरकार: राष्ट्रपति
3 बजट 2017: क्‍या नौकरीपेशा लोगों की ये उम्‍मीदें पूरी कर पाएगी नरेंद्र मोदी सरकार?
यह पढ़ा क्या?
X