ताज़ा खबर
 

Union Budget 2017: संसद में दौरा पड़ने के बाद सांसद का निधन, बजट पर असमंजस

Union Budget 2017: वित्तवर्ष 2017-18 का आम बजट आज यानी एक फरवरी 2017 को पेश होना है।
Union Budget 2017: ई अहमद की दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।

वित्तवर्ष 2017-18 का आम बजट आज यानी एक फरवरी 2017 को पेश होना है। लेकिन अब बजट को लेकर संशय बना हुआ है कि उसे आज पेश किया जाएगा या नहीं। दरअसल, मंगलवार की रात को सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री ई अहमद की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई है। इसकी वजह से बजट को टाला जा सकता है। हो सकता है कि आज बजट पेश ही ना किया जाए। यह भी हो सकता है कि बजट पेश हो लेकिन उसपर चर्चा कल की जाए। इस वक्त प्रमुख ये दो संभावनाएं देखी जा रही हैं –

1. श्रद्धांजलि देकर कार्यवाही स्थगित: आमतौर पर किसी सांसद के निधन के बाद संसद के दोनों सदनों की कार्यवाही को एक दिन के लिए स्थिगित किया जाता है। ई अहमद के निधन के बाद भी ऐसा ही हो सकता है।

2. बजट पेश हो लेकिन चर्चा नहीं : दूसरी संभावना यह भी है कि ई अहमद को श्रद्धांजलि देने के बाद केंद्र सरकार बजट को आज ही पेश कर दे। लेकिन उसपर चर्चा आज ना हो। ऐसी स्थिति में बजट को संसद में पेश करके उसे सदन पटल पर रखा हुआ मान लिया जाएगा। लेकिन आज उसपर चर्चा नहीं होगी। उसकी चर्चा के लिए कल का दिन तय किया जाएगा।

परंपरा यह है कि संसद की कार्यवाही के दौरान अगर किसी सिटिंग एमपी का निधन होता है तो उसके लिए संसद की कार्यवाही को स्थगित कर दिया जाता है। अब फैसला सुमित्रा महाजन को लेना है। हालांकि, अबतक सरकार की तरफ से ऐसा कोई बयान नहीं आया है जिससे लगे कि बजट पेश नहीं किया जाएगा।

ई. अहमद केरल की मालाप्पुरम लोकसभा सीट से सांसद थे। वह मुस्लिम लीग पार्टी में थे। अहमद इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे। मनमोहन सिंह की सरकार में वे विदेश राज्यमंत्री थे। उनकी उम्र 78 साल थी। ई अहमद यूपीए सरकार के दौरान रेल राज्य मंत्री भी रहे थे। ई. अहमद का जन्म 29 अप्रैल 1938 को हुआ था। अहमद केरल विधासभा से 1967, 1977, 1980, 1982 और 1987 में विधायक चुने गए। वह 1982 से 1987 तक केरल सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रहे। अहमद 1991, 1996, 1998, 1999, 2004 और 2009 में लोकसभा के लिए चुने गए। वह 2004 से 2009 के बीच विदेश राज्यमंत्री भी रहे।

इस वक्त की बाकी ताजा खबरों के लिए क्लिक करें

देखिए संबंधित वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.