ताज़ा खबर
 

ब्लॉग

ब्‍लॉग: आरएसएस के अखंड भारत का सच

हिंदू राष्‍ट्रवादियों के लिए अखंड भारत मुख्‍य मुद्दा है। 1950 और 1960 में भारतीय जनसंघ ने इस संबंध में कई प्रस्‍ताव पास किए थे...

हामिद मीर का ब्लॉगः मोदी-नवाज शरीफ का असल टेस्ट अब शुरू

पठानकोट के एयरबेस पर हुआ आतंकी हमला भारत और पाकिस्‍तान दोनों देश के प्रधानमंत्रियों के लिए बड़ा टेस्‍ट साबित होने वाला है।

हिंदी गजल

हिंदी गजल को हिसाब में न लेने का आरोप जिन लेखकों पर लग सकता है उनमें मैं भी एक हूं।

वही कातिल निकला

पांच दिन कूटनीति कुटी। ‘बर्थ डे’ के बाद ‘डेथ डे’ पठानकोट मना। इस तरह वही दुहरा, जिसका अंदेशा था। पचासी घंटे लंबा एनकाउंटर। सात...

तवलीन सिंह का कॉलम वक्‍त की नब्‍ज: यह अघोषित युद्ध है

पठानकोट जैसे हमले होते रहेंगे भारत में कहीं न कहीं, जब तक हम स्वीकार नहीं करते कि ऐसे हमले एक अघोषित युद्ध का हिस्सा...

तेल का फायदा कहां गया

छमाही आर्थिक विश्लेषण की कई बातें उलझन में डालने वाली हैं। मसलन, पैरा 1.4 कहता है ‘‘यह सही है कि बजट में जताए गए...

बेबाक बोल : भारत पाकिस्तान के ये दोस्ती!

भारत पाकिस्तान में दोस्ताना अपनी जगह और कूटनीति अपने स्थान पर। लेकिन भेद की इस महीन लकीर के आरपार होते ही यह जोखिम महंगा...

ताहिर महमूद का ब्‍लॉग: पाकिस्‍तान बनने देना थी सबसे बड़ी भूल, एक हिंदुस्‍तान में बेहतर होती जिंदगी

धर्म के नाम पर बंटवारे की मांग अनुचित थी और राजनीतिक सहूलियत के लिए ऐसा कर दिया गया। कुछ साल बाद आजाद होने की...

साहित्य में जगह

प्राचीनों ने जब साहित्य, कलाओं, सौंदर्य आदि के सिलसिले में देश-काल की अवधारणा की थी तो वह कोई ऊपर से लादा गया सिद्धांत नहीं...

बीते बरस के टीवी सूरमा

सन पंद्रह के टीवी सूरमा कौन रहे? पहले नंबर पर मोदी। दूसरे नंबर पर केजरीवालजी! राहुलजी तीसरे नंबर पर ही रहे! नंबर वन पर...

तवलीन सिंह का कॉलम वक्‍त की नब्‍ज: नए साल में जरूरी है नई चाल

एक नए साल की शुरुआत कैसे की जा सकती है, बिना गुजरे साल के गिरेबान में झांके। झांकने की कोशिश जब की मैंने तो...

आशुतोष का ब्‍लॉग: आरएसएस की अखंड भारत की सोच और हिटलर की पॉलिसी एक जैसी

बीजेपी के जनरल सेक्रेटरी और कभी राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ के चेहरा रहे राम माधव ने हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान अखंड भारत...

बेबाक बोल : सत्ता के सबक

सत्ता के सबक को किसी का लिहाज नहीं। इस वर्ष ने वक्त की दहलीज से बाहर कदम रखने से पहले भारी बहुमत से देश...

राम चंद्र गुहा का ब्‍लॉग: भाजपा के मनमोहन सिंह हैं अरुण जेटली

2013-14 के चुनाव प्रचार में मोदी ने कहा- न खाऊंगा, न खाने दूंगा। मोदी कहना चाहते थे- डॉ. साब ने खुद नहीं खाया, लेकिन...

बेबाक बोल : अपना गिरेबां

अरविंद केजरीवाल को जहां अपने घोषित सरोकारों को साबित करते हुए अपने प्रमुख सचिव राजेंद्र कुमार पर लगे आरोपों की जांच के लिए खुद...

BLOG: पंचायती चुनाव लड़ने पर बंदिशें लगा कर जल्‍दबाजी मत दिखाए सुप्रीम कोर्ट

पंचायती चुनाव लड़ने के अधिकार सीमित करने का ट्रेंड बन चुका है। हरियाणा में अब वे ही कैंडिडेट चुनाव लड़ सकेंगे जिनके पास कुछ...

पी चिदंबरम का कॉलम दूसरी नजर : सुनियोजित सनक की भनक

बिहार चुनाव ने हरेक को सबक दिया। भाजपा को सबक मिला कि सब राज्यों में मोदी फार्मूला नहीं चल सकता। कांग्रेस ने सीखा कि...

तवलीन सिंह का कॉलम वक़्त की नब्ज़ : पहले विकास का पहिया चलाइए

पिछले कुछ महीनों से ऐसा लगने लगा है जैसे हर हफ्ते किसी न किसी बहाने किसी न किसी मंत्री या मुख्यमंत्री के इस्तीफा देने...