ताज़ा खबर
 

ब्लॉग

जेएनयू विवाद पर बेबाक बोल: द्रोह-काल

अब तक जेएनयू में वामपंथियों का बोलबाला रहा है, और दक्षिणपंथी विचारधारा वहां अघोषित रूप से प्रतिबंधित ही रही है।

फली एस नरीमन का Blog: भारत विरोधी होना अपराध नहीं और यह देशद्रोह तो बिलकुल नहीं

सेक्‍शन 124ए की पहली परिभाषा के अनुसार असंतोष में विश्‍वासघात और शत्रुता के सारे भाव शामिल होते हैं।

Blog: JNU विवाद को राष्‍ट्रवाद से जोड़कर मोदी सरकार ने किया सबसे बड़ा राष्‍ट्र विरोधी काम

कन्‍हैया कुमार की गिरफ्तारी और जेएनयू में राजनीतिक विरोध पर कार्रवाई से पता चलता है कि देश में ऐसी सरकार है जो नुकसानदायक होने...

बेबाक बोलः आह ताज!

सत्रहवीं शताब्दी में निर्मित वास्तुशिल्प के इस हैरतअंगेज शाहकार को लेकर कवियों-शायरों की कलम ने खुल कर अपना इजहारे-खयाल किया।

प्रगतिशीलता पर भारी परंपरा

26 जनवरी को जब सारा देश गणतंत्र दिवस की परेड देखने में मशगूल था तो देश की राजधानी से दूर महाराष्ट्र के अहमदनगर में...

बेबाक बोलः दखल-बेदखल

महाराष्ट्र के शिंगणापुर मंदिर में प्रवेश का सवाल महिला अधिकारों के साथ मध्ययुगीन सामंती व्यवस्था बनाम आधुनिकता की लड़ाई बन गया है। यह भी...

Blog: महबूबनगर जिले के हाल से सामने आया मनरेगा के 10 सालों का सच

महबूबनगर के 64 मंडल भी शामिल हैं। सरकार ने मनरेगा के तहत एक साल में रोजगार के दिनों की संख्‍या को 100 से बढ़ाकर...

एक सपने की मौत

दिल्ली के रायन इंटरनेशनल स्कूल में शनिवार को एक सपने की भी मौत हुई। एक सपना जो नन्हें दिव्यांश की आंखों ने देखा और...

रम्य रचनाः मोची भया उदास

मेरी चप्पल टूट गई थी। ‘पुरानी’ थी इसलिए टूट गई। नई चप्पल नहीं टूटती है। आजकल नया ब्रांड या मॉडल आने से नई चीज...

दूसरी नजरः मेरा जन्म ही मेरी त्रासदी है

यह हमारे युग का एक चमत्कार है कि एक दलित, जो कि एक सुरक्षा गार्ड और एक सिलाई करने तथा सिखाने वाली का बेटा...

तवलीन सिंह का कॉलम वक्त की नब्ज़ः नौकरशाही पर नकेल की जरूरत

प्रधानमंत्री को भूलना नहीं चाहिए एक क्षण के लिए भी कि उनको जनादेश पूरी बहुमत के साथ मिला था परिवर्तन लाने के नाम पर।...

बाखबरः चैनलों का शनि- जाप

जिन्हें समाज सुधार का आंदोलन चलाना हो वे अर्णवजी की शरण आएं। जिनको ऊंची बौद्धिक गप मारनी हो, वे एनडीटीवी की निधिजी को देखें...

जो लड़ रहे जीने के लिए..

‘बेरहम बिसात’ ने मुझे अंदर से झकझोर दिया। लखनऊ के बाबा साहब भीमराव आंबेडकर विश्वविद्यालय में मैंने रोहित वेमुला जैसों को देखा है।

बेबाक बोल- फिर अमित शाह!

अमित शाह का भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष पद पर दोबारा काबिज होना वैसे ही है, जैसे ‘डॉन’ या ‘कृष’ जैसी हिट फिल्म का...

Blog: न्‍यायपालिका और विधायिका के टकराव का मामला भी है अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का माइनॉरिटी स्‍टेटस केस

यदि अजीज बाशा केस में सुप्रीम कोर्ट की टिप्‍पणी पर नजर डाली जाए तो इसके अनुसार अल्‍पसंख्‍यक यूनिवर्सिटी की स्‍थापना नहीं कर सकते यद्यपि...

Blog: RSS का अमित शाह में पूरा भरोसा, अब शाह की नई टीम से पता चलेंगे भाजपा के नए इरादे

आरएसएस ने शाह में पूरा विश्‍वास दिखाया है। ऐसा नहीं होता तो इतनी आसानी से उन्‍हें दोबारा नहीं चुना जाता।

बेबाक बोलः बेरहम बिसात

हैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय के मेधावी छात्र रोहित वेमुला की मौत से दर्दनाक कुछ हो नहीं सकता। लेकिन उससे भी ज्यादा हौलनाक है भारतीय राजनीति...

Blog: डेढ़ साल में अपना ही ‘उपदेश’ भूल गए नरेंद्र मोदी

कंज्‍यूमर इंफ्लेशन लगातार पांचवें महीने बढ़ी है और 15 महीनों के सर्वोच्‍च स्‍तर पर है। महंगाई की दर ग्रामीणों इलाकों में 6.‍32 प्रतिशत और...