ताज़ा खबर
 

ब्लॉग

Blog: डेढ़ साल में अपना ही ‘उपदेश’ भूल गए नरेंद्र मोदी

कंज्‍यूमर इंफ्लेशन लगातार पांचवें महीने बढ़ी है और 15 महीनों के सर्वोच्‍च स्‍तर पर है। महंगाई की दर ग्रामीणों इलाकों में 6.‍32 प्रतिशत और...

कभी- कभारः कविता का दरवाजा

इस सोलह जनवरी को मैं अपनी आयु के पचहत्तर वर्ष पूरे कर गया। संयोगवश इस वर्ष कविता लिखने के साठ वर्ष, आलोचना लिखने के...

बाखबरः हिरासत में कॉमेडी

कॉमेडियन कीकू को एक बाबाजी की नकल उड़ाने के अपराध में अचानक पुलिस ने धर लिया, तो धरे जाने की खबर बनी। बाबा का...

तवलीन सिंह का कॉलम वक्त़ की नब्जः अभी बहुत कुछ करना है

यह साल नरेंद्र मोदी की अग्निपरीक्षा का होगा। इसलिए कि अब वह वक्त निकल चुका है, जब गांधी परिवार के पांच दशक लंबे राज...

पी चिदंबरम का कॉलम दूसरी नजरः बातचीत हो या न हो

मुश्किल से तीन हफ्ते पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान की अघोषित यात्रा की थी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के साथ इस...

पुस्तकायनः रुधिर का तापमान

कवि मलखान सिंह दलित रचनाकारों की पहली पीढ़ी से ताल्लुक रखते हैं। उनका पहला कविता संग्रह 1997 में आया। इस संग्रह ने जैसी लोकप्रियता...

start-up पॉलिसी: आम टैक्‍सदाताओं का पैसा जोखिम वाले निवेश में लगा रही मोदी सरकार, पढ़ें BLOG

वेंचर कैपिटल फंड्स ज्‍यादा रिस्‍क, ज्‍यादा फायदा के सिद्धांत पर काम करते हैं। इसमें निवेश किया गया या तो पूरा पैसा डूब जाता है,...

कई राज्‍यों में विफल हो चुकी हैं शराबबंदी की कोशिशें, क्‍या केरल-बिहार को मिलेगी सफलता?

ऐसा अनुमान है कि पिछले साल बिहार में शराब की बिक्री से 3300 करोड़ का राजस्व कमाया गया, जो दूसरे करों की कमाई से...

खालिद अहमद का ब्‍लॉग: सामी को भारतीय नागरिकता पाकिस्‍तान के लिए फायदा, अब चिंता करे शिवसेना

पाकिस्‍तान में लोग इस बात को लेकर गुस्‍सा हैं कि सामी ने इंडियन पासपोर्ट हासिल करने के बाद 'जय हिंद' ट्वीट क्‍यों किया?

ब्‍लॉग: आरएसएस के अखंड भारत का सच

हिंदू राष्‍ट्रवादियों के लिए अखंड भारत मुख्‍य मुद्दा है। 1950 और 1960 में भारतीय जनसंघ ने इस संबंध में कई प्रस्‍ताव पास किए थे...

हामिद मीर का ब्लॉगः मोदी-नवाज शरीफ का असल टेस्ट अब शुरू

पठानकोट के एयरबेस पर हुआ आतंकी हमला भारत और पाकिस्‍तान दोनों देश के प्रधानमंत्रियों के लिए बड़ा टेस्‍ट साबित होने वाला है।

हिंदी गजल

हिंदी गजल को हिसाब में न लेने का आरोप जिन लेखकों पर लग सकता है उनमें मैं भी एक हूं।

वही कातिल निकला

पांच दिन कूटनीति कुटी। ‘बर्थ डे’ के बाद ‘डेथ डे’ पठानकोट मना। इस तरह वही दुहरा, जिसका अंदेशा था। पचासी घंटे लंबा एनकाउंटर। सात...

तवलीन सिंह का कॉलम वक्‍त की नब्‍ज: यह अघोषित युद्ध है

पठानकोट जैसे हमले होते रहेंगे भारत में कहीं न कहीं, जब तक हम स्वीकार नहीं करते कि ऐसे हमले एक अघोषित युद्ध का हिस्सा...

तेल का फायदा कहां गया

छमाही आर्थिक विश्लेषण की कई बातें उलझन में डालने वाली हैं। मसलन, पैरा 1.4 कहता है ‘‘यह सही है कि बजट में जताए गए...

बेबाक बोल : भारत पाकिस्तान के ये दोस्ती!

भारत पाकिस्तान में दोस्ताना अपनी जगह और कूटनीति अपने स्थान पर। लेकिन भेद की इस महीन लकीर के आरपार होते ही यह जोखिम महंगा...

ताहिर महमूद का ब्‍लॉग: पाकिस्‍तान बनने देना थी सबसे बड़ी भूल, एक हिंदुस्‍तान में बेहतर होती जिंदगी

धर्म के नाम पर बंटवारे की मांग अनुचित थी और राजनीतिक सहूलियत के लिए ऐसा कर दिया गया। कुछ साल बाद आजाद होने की...

साहित्य में जगह

प्राचीनों ने जब साहित्य, कलाओं, सौंदर्य आदि के सिलसिले में देश-काल की अवधारणा की थी तो वह कोई ऊपर से लादा गया सिद्धांत नहीं...