ताज़ा खबर
 

चुनाव से पहले गुजरात की जनता को सरकार से मिला एक हफ्ते में दूसरा बड़ा तोहफा

चुनाव आयोग ने गुजरात विधान सभा चुनाव की तारीखों की अभी तक घोषणा नहीं की है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फोटो-पीटीआई)

कोई कह सकता है कि देश के जिस राज्य में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी का आना-जाना बढ़ जाए तो समझिए वहाँ चुनाव आने वाला है। कोई कह सकता है कि जब एक हफ्ते के अंदर एक राज्य पर केंद्र सरकार और राज्य सरकार खास मेहरबान नज़र आए तो समझिए वहाँ चुनाव आने वाला है। ये बातें भले ही सच न हों फिर भी पूरा देश जानता है कि इस साल के अंत तक गुजरात में विधान सभा चुनाव होने वाला है। चुनाव आयोग ने अभी गुजरात और हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधान सभा चुनाव की घोषणा नहीं की है लेकिन भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी), कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) गुजरात चुनाव को लेकर कमर कस चुके हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक महीने में अलग-अलग कार्यक्रमों में तीन बार अपने गृह प्रदेश पधार चुके हैं। वहीं कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी कथित इमेज-मेकओवर वाली अमेरिका यात्रा से देश लौटे तो सीधे गुजरात के द्वारकाधीश में नजर आये। माथे पर चंदन-टीका के साथ। पीएम मोदी के प्यार और राहुल के बदले हुए अवतार के बाद ही लोग समझने लगे थे कि गुजरात में चुनाव आने वाला है। सोशल मीडिया पर इसे लेकर चुटकियां ली जाने लगीं। तभी मोदी सरकार ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) में कई बदलावों की घोषणा करके मामले को और हवा दे दी। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जिन 27 वस्तुओं पर जीएसटी की दर घटाने की घोषणा की थी उनमें गुजरातियों का प्रिय खाखरा भी था। वित्त मंत्री ने खाखरे के जिस तरह ख्याल रखा वो ट्विटरवासियों की भा गया। उन्होंने खाखरे पर अपने-अपने हास्यबोध की धार जमकर तेज की।

पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर घिरी मोदी सरकार ने इन पर उत्पाद कर दो प्रतिशत कम कर दिया। मोदी सरकार ने राज्यों से पेट्रोल-डीजल पर वैट कम करने की अपील भी की। मोदी सरकार की इस अपील को सबसे पहले गुजरात की विजय रूपानी सरकार ने सुना और राज्य में वैट की दर घटा दी। सीएम विजय रूपानी ने पत्रकारों को मंगवार (10 अक्टूबर) को बताया, “हम चार प्रतिशत वैट घटा रहे हैं जिसके बाद पेट्रोल में 2.93 रुपए और डीजल में 2.72 रुपए की कटौती होगी।” हालांकि सीएम रूपानी ने साफ कहा कि उनकी इस घोषणा का इस बात से कोई सम्बन्ध नहीं कि गुजरात में चुनाव आने वाला है।

अब भी आपको नहीं लगता तो बता दें पिछले हफ्ते ही पीएम मोदी ने दो साल पहले शुरू हो चुके आईआईटी गांधीनगर परिसर को राष्ट्र को समर्पित किया। पिछले ही हफ्ते उत्तर प्रदेश चुनाव के समय चर्चा में आई रसोई गैस देने वाली उज्जवला योजना को गुजरात के ग्रामीण इलाकों में पहुंचाने के लिए विशेष प्रयासों की योजना सामने आयी। बीते हफ्तों की इतनी बातों के बाद आपको बताते चलें कि अगले हफ्ते उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुजरात के दौरे पर जाने वाले हैं। अब तो आप भी कह सकते हैं कि गुजरात में चुनाव आने वाला है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.