ताज़ा खबर
 

ब्लॉग

चौपालः घाटे की खेती

आज भारत खाद्यान्न, फल, सब्जियां और दुग्ध उत्पादन में दुनिया के शीर्ष तीन देशों में है फिर भी अन्नदाता संकट में क्यों है?

निराशा के अंधकार में उजाले की किरण जैसा है सोहनलाल द्विवेदी का गीत – ‘कोशिश करने वालों की हार नहीं होती’

'लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती' कविता हर उस शख्स का ज़बानी गीत है जो कभी न कभी प्रतिद्वंदिता के रण में घायल...

चौपालः शुचिता का तकाजा

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से पूछा है कि कोई दोषी व्यक्ति किसी राजनीतिक दल का पदाधिकारी कैसे हो सकता है और वह चुनावों...

भारत के लिए अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस के मायने

पूर्व राष्ट्रपति डॉ अब्दुल कलाम ने स्वयं के अपने अनुभवों के आधार पर एक बार कहा था कि "मैं अच्छा वैज्ञानिक इसलिए बना, क्योंकि...

चौपालः परीक्षा पर प्रश्न

प्रधानमंत्री ने पिछले दिनों देश के करोड़ों छात्रों के साथ परीक्षा को लेकर अपने विचार साझा किए।

नीरव मोदी के पतन की वजह हीरा? रत्नों में नीलम से भी ज्यादा माना जाता है खतरनाक

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जन्म कुंडली में शुक्र यदि षष्ठ, अष्टम या द्वादश भाव में हो तो हीरा अर्श से फ़र्श पर फेंक देता...

चौपालः स्त्री की सेहत

यह किसी से छिपा नहीं है कि भारतीय समाज में महिलाओं की स्थिति क्या है। बात चाहे सामाजिक पहलू की हो या आर्थिक पहलू...

चौपालः विकल्प के बावजूद

भारत में सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवाओं और इलाज पर होने वाले खर्च की तस्वीर किसी से छिपी नहीं है।

2014 में जिन छह राज्यों से नरेंद्र मोदी ने जीतीं 224 सीटें, वहां 2019 के लिए बन रहा यह सीन

यह बड़ा सवाल है कि क्या 2014 की प्रचंड जीत नरेंद्र मोदी 2019 में भी दोहरा पाएंगे। मौजूदा राजनीतिक हालात से तो यह नहीं...

जर्मनी में सरकार बनाने पर हुई डील, लेकिन घमासान जारी

आम चुनावों के साढ़े चार महीने बाद जर्मनी में आखिराकर नई सरकार बनाने का रास्ता साफ हो गया है। बड़ी माथापच्ची करनी पड़ी, तब...

बेबाक बोलः राजकाज- हंसना मना है

मिथिलांचल (वर्तमान में बिहार का हिस्सा) के मंडन मिश्र का आदि गुरु शंकराचार्य से शास्त्रार्थ चल रहा था। निर्णायक थीं मंडन मिश्र की विदुषी...

चौपालः खुदरा उदारवाद

भारत में खुदरा क्षेत्र में लगभग 2.5 करोड़ लोगों को प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से रोजगार मिला हुआ है। हमारे समाज में औसतन एक...

चौपालः मुखौटे के पीछे

हाल ही में सर्वोच्च न्यायालय के पीठ जिसमें जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस दीपक गुप्ता शामिल थे, ने विधवाओं के पुनर्वास के मामले...

रोमन लिबास में कराहने को मजबूर हमारी हिन्दी

सिनेस्तान इंडियाज स्टोरीटेलर्स स्क्रिप्ट प्रतियोगिता में 15 अक्टूबर, 2017 से 15 जनवरी 2018 तक जाने कितनी रोमन में लिखी हिन्दी पटकथाएं प्रविष्टियों के रुप...

Propose Day 2018: एक कहानी आदिम प्यार की

Propose Day 2018: वैलेंटाइन वीक पर मगन होने वाली नई पीढ़ी के लिए स्त्री-पुरुष के बीच प्रणय की एक कहानी। यह कहानी उन युवाओं...

राजनीतिः घोषणा के बावजूद

वित्तमंत्री ने 2018-19 के बजट भाषण की शुरुआत में ही चौंकाने वाली घोषणा की थी कि किसानों को उनकी उपज का डेढ़ गुना दाम...

चौपालः खेलों की सुध

खेलों में भारत को विश्व विजेता बनाने के उद्देश्य के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों पहले ‘खेलो इंडिया स्कूल गेम्स’ का शुभारंभ...

बेबाक बोल : क्रोध काल

हमने अपने पूरे माहौल में गुस्से और अहंकार का जो गुबार रच दिया है वह अब हमारे बच्चों के दिमाग में फूट रहा है।...